Powered by

Latest Stories

Home Tag Kuno National Park

Kuno National Park

बारिश में चीतों को इंफेक्शन से बचाने के लिए कूनों तैयार

By Chandrapratap Tiwari

मध्यप्रदेश का वन विभाग जानवरों के लिए सुरक्षात्मक कदम उठा रहा है। बीते दिनों मध्यप्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में चीतों को एंटी डॉट लगाए जा रहे हैं। यह कदम बारिश के बाद होने वाले इंफेक्शन से चीतों को बचाने के लिए उठाया जा रहा है।

कैसे भारत में प्रोजेक्ट चीता की सफलता अब नन्हें शावकों के जीवन पर निर्भर है?

By Chandrapratap Tiwari

भारत में अफ्रीका से 20 चीते लाए गए थे, इनमें से 10 की मृत्यु हो चुकी थी। लेकिन अब कि जब भारत में इस परियोजना का दूसरा चरण शुरू होने जा रहा है, इसकी फिजिबिलिटी सवालों के घेरे में है।

चीतों को गर्मी से बचाने के लिए कूनो नेशनल पार्क में छिड़का जा रहा है पानी

By Ground report

एक ओर हीटवेव का प्रकोप पूरे देश में फैला हुआ है। वहीं कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) के चीते भी इससे परेशान हो रहे हैं। चीतों को गर्मी से निजात दिलाने के लिए वन विभाग पानी से छिड़काव कर रहा है। 

चीतों को बसाने के लिए गांधी सागर अभ्यारण से तेंदुओं को किया जाएगा बेघर

By Ground report

भारत सरकार ने प्रोजेक्ट चीता (Project cheetah) के दुसरे चरण की तैयारी भी शुरू कर दी है। अंततः गांधीसागर अभ्यारण्य (Gandhi Sagar Wildlife Sanctuary) को चीतों का अगला घर चुना गया है।

Cheetah Project: मादा चीता वीरा की तबीयत सुधरी बाकी चीते भी स्वस्थ

By Sanavver Shafi

वन महकमे ने इस प्रोजेक्ट को सफल बनाने की दोबारा से कार्य योजना तैयार की और इस कार्ययोजना के 15 चीतों का स्वास्थ्य परीक्षण कराया।

कूनो नैशनल पार्क में अब तक 7 चीतों की मौत, क्या फेल हो रहा है भारत का प्रजेक्ट चीता?

By Shishir Agrawal

मध्यप्रदेश के शिवपुरी में स्थित कूनो नेशनल पार्क से एक बार फिर निराश करने वाली खबर आई है. यहाँ एक और नर चीते की मौत हो गई है.

अपने एशियाटिक लायंस को बचाने की जगह दूसरे देश से चीते क्यों ला रहा है भारत?

By Pallav Jain

Asiatic Lions की दहाड़ 20वी सदी के पहले तक मध्य, पूर्व और उत्तरी भारत में भी सुनी जाती थी। लेकिन अब ये केवल गुजरात के गिर फॉरेस्ट में ही सिमट कर रह गए हैं।