Powered by

Latest Stories

Home Tag bhopal

bhopal

भोपाल में कल्याणनगर के रहवासी 8 साल से कर रहे हैं नाला बनने का इंतज़ार

By Shishir Agrawal

गर्मी से तप रहे भोपाल के लिए यह मानसून राहत देने वाला होगा. मगर 26 वर्षीय विजय के लिए मानसून ऐसा नहीं है. वह जानते हैं कि मानसून आते ही उनका काम कई दिनों तक ठप्प रहेगा. गन्दा पानी न  सिर्फ़ घर में घुसेगा बल्कि पीने का साफ़ पानी मिलना भी मुश्किल हो जाएगा.

'एनीमल्स विद ह्यूमैनिटी' भीषण गर्मी से बचा रही है बेज़ुबान जानवरों की जान

By Chandrapratap Tiwari

इस वर्ष देश में हीटवेव के कारण जानवर भी बुरी तरह प्रभावित हुए। जबकि इंसानों के पास छाया और ठंडा पानी उपलब्ध था, सड़कों पर रहने वाले जानवर इन सुविधाओं से वंचित थे। AWH ने शहर में कई जगहों पर पानी के बर्तन लगवाए और सैकड़ों जानवरों की जान बचाई।

क्या भोपाल का प्रशासनिक अमला 29 हज़ार वृक्षों का स्थानांतरण कर पाएगा?

By Shishir Agrawal

मध्यप्रदेश के कैबिनेट मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि 29 हज़ार पेड़ काटे नहीं बल्कि स्थानांतरित किए जाएँगे. मगर सवाल यह है कि क्या वाकई भोपाल नगर निगम या फिर वन अमला इतना सक्षम है कि इतनी बड़ी संख्या में पेड़ स्थानांतरित किए जा सकें?

Bhopal Tree Cutting: माननीयों के आवास के लिए कटेंगे 29 हज़ार पेड़

By Shishir Agrawal

भोपाल में सरकारी बंगलों को बनाने के लिए लगभग 29 हज़ार पेड़ों को काटा जाना है. इससे पहले भी भोपाल में स्मार्ट सिटी और मेट्रो के लिए भारी मात्र में पेड़ काटे गए हैं. इसका सीधा असर शहर के तापमान पर हुआ है.

"वर्षा के जल को बचाने से ही बचेगी आजीविका" पद्मश्री लक्ष्मण सिंह

By Ground report

6 जून को भोपाल में, सातवां महेश बुच स्मृति व्याख्यान आयोजित किया गया। इस की अध्यक्षता डॉ. एस. पी. दत्ता कर रहे थे। साथ ही इस समारोह में राजस्थान के लापोड़िया गाँव के सामाजिक कार्यकर्ता और वॉटरमैन  पद्मश्री लक्ष्मण सिंह ने भी अपना व्याख्यान दिया।

भीषण गर्मी ने रोकी फ्लाइट, इंजन गर्म होने पर उड़ान मुश्किल

By Ground report

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) की राजधानी भोपाल (Bhopal) में भीषण गर्मी का एक और नमूना देखने को मिला। दरअसल भोपाल के राजा भोज एयरपोर्ट (Raja Bhoj Airport) में खड़े इंडिगो के विमान को एक घंटे देरी से उड़ान लेनी पड़ी।

अमृतकाल में 'सरोवर' की राह ताकते मध्य प्रदेश के गाँव

By Shishir Agrawal

तालाब भूजल को रिचार्ज करने के प्रमुख साधन हैं. मगर अमृत सरोवर योजना से छूट गए गाँवों में तालाब और भूजल दोनों की ही स्थिति बेहद ख़राब है. ऐसे में यह स्थिति यहाँ के ग्रामीणों पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ और परेशानियाँ लादती है.