Powered by

Latest Stories

Home Authors Shishir Agrawal
author image

Shishir Agrawal

क्या भोपाल का प्रशासनिक अमला 29 हज़ार वृक्षों का स्थानांतरण कर पाएगा?

By Shishir Agrawal

मध्यप्रदेश के कैबिनेट मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि 29 हज़ार पेड़ काटे नहीं बल्कि स्थानांतरित किए जाएँगे. मगर सवाल यह है कि क्या वाकई भोपाल नगर निगम या फिर वन अमला इतना सक्षम है कि इतनी बड़ी संख्या में पेड़ स्थानांतरित किए जा सकें?

Bhopal tree cutting: क्या है 29 हज़ार पेड़ काटने का पूरा मामला?

By Shishir Agrawal

प्रदेश की राजधानी भोपाल में इन दिनों 29 हज़ार पेड़ काटने को लेकर काफी विवाद हो रहा है. शिवाजी नगर और तुलसी नगर की कुछ महिलाओं ने पेड़ों से चिपक कर प्रतीकात्मक विरोध भी किया. उनका कहना है कि यह पेड़ उनके द्वारा बड़े किए गए हैं अतः हम इन्हें नहीं कटने देंगे.

जल गंगा संवर्धन अभियान के बीच अधर में लटकी हुई आरआरआर योजना

By Shishir Agrawal

मुख्यमंत्री मोहन यादव ने 5 जून को पर्यावरण दिवस के मौके पर बेतवा नदी के उद्गम स्थल से ‘जल गंगा संवर्धन अभियान’ की शुरुआत की. अभियान के तहत प्रदेश की जल संरचनाओं की मरम्मत की जानी है. मगर यहाँ रुक कर यह सवाल करना होगा कि आरआरआर योजना का क्या हुआ?

जल गंगा संवर्धन अभियान: समसगढ़ की बावड़ियों की कब सुध लेगा प्रशासन?

By Shishir Agrawal

मध्यप्रदेश सरकार द्वारा जलाशयों की मरम्मत के लिए 'जल गंगा संवर्धन अभियान' शुरू किया गया है. मगर राजधानी से थोड़ी ही दूर पर स्थित प्राचीन बावड़ियाँ अब भी बेहाल हैं.

ज़मीन पर टीबी उन्मूलन में जुटी ASHA कार्यकर्ताओं की परेशानियों से आंख मूंदता सिस्टम

By Shishir Agrawal

भारत के 2025 तक टीबी मुक्त होने के लक्ष्य में आशा कार्यकर्त्ता महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं. वह मरीज़ और सरकारी अस्पताल के बीच की दूरी को कम करने का काम कर रही हैं.

Bhopal Tree Cutting: माननीयों के आवास के लिए कटेंगे 29 हज़ार पेड़

By Shishir Agrawal

भोपाल में सरकारी बंगलों को बनाने के लिए लगभग 29 हज़ार पेड़ों को काटा जाना है. इससे पहले भी भोपाल में स्मार्ट सिटी और मेट्रो के लिए भारी मात्र में पेड़ काटे गए हैं. इसका सीधा असर शहर के तापमान पर हुआ है.

हिमांचल प्रदेश देगा दिल्ली को सरप्लस पानी, क्या है दिल्ली का जल संकट?

By Shishir Agrawal

बीते 6 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट ने हिमांचल सरकार को एक महत्वपूर्ण आदेश दिया. आदेश के अनुसार हिमांचल प्रदेश दिल्ली के लिए 137 क्यूसेक सरप्लस पानी रिलीज़ करेगा. यह पानी दिल्ली के जल संकट को दूर करने के लिए भेजा जाएगा.