RURAL INDIA

गोबर से बदलेगी ग्रामीण अर्थव्यवस्था की सूरत

अब तक सड़क पर पडे़ जिस गोबर के पांव में लगने भर से हम आक्रोशित हो जाते हैं, वही गोबर अब छत्तीसगढ़ के लाखों किसानों और पशुपालकों के लिए आय का माध्यम बन रहा है। राज्य सरकार ने गोधन न्याय योजना के तहत प्रदेश भर में किसानों और पशुपालकों से गोबर खरीदने की नई योजना …

गोबर से बदलेगी ग्रामीण अर्थव्यवस्था की सूरत Read More »

लॉकडाउन में ग्रामीण भारत को बस एक वक्त की रोटी ही नसीब…

News Desk, Ground Report: कोरोनोवायरस(Coronavirus) के लॉकडाउन(Lockdown) के प्रभाव को समझने के लिए कुछ नागरिक समाज संगठनों ने एक सर्वे किया. जिसमें पता लगा कि कोरोनावायरस की वजह से लागू देशव्यापी लॉकडाउन में ग्रामीण परिवारों की ज़िन्दगी और बद्तर होती जा रही है. 12 राज्यों में हुए इस सर्वे के मुताबिक़ ग्रामीण छेत्रों में रहने …

लॉकडाउन में ग्रामीण भारत को बस एक वक्त की रोटी ही नसीब… Read More »

संगी साथी गांव कहां, अंबवा की छांव कहां

ग्राउंड रिपोर्ट । पल्लव जैन आधुनिकता और ज़्यादा पैसे कमाने की होड़ में हम गांव छोड़ शहरों की तरफ़ चल पड़े। साफ हवा और शांत जीवन को छोड़ हमने ज़हरीली होती हवा और सरपट दौड़ती ज़िंदगी को चुन लिया। लगा था पैसा कमा कर एक दिन फिर वहीं लौट जाएंगे जहां हमने अपना बचपन जिया। …

संगी साथी गांव कहां, अंबवा की छांव कहां Read More »