Powered by

Advertisment
Home हिंदी

1.31 करोड़ लाडली बहनों के खाते में मुख्यमंत्री शिवराज ने डाले 1269 करोड़ रुपये, अगले महीने से मिलेंगे 1250 रुपए

shivraj singh chauhan ladli Behna yojana madhya pradesh

By himanshubadodekar
New Update
shivraj singh chauhan ladli Behna yojana madhya pradesh

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि योजना बनाकर लाड़ली बहनों को ₹450 रुपये में गैस सिलेंडर दिया जाएगा। बाकी पैसे राज्य सरकार भरेगी। प्रधानमंत्री आवास योजना में जिन गरीब बहनों के नाम छूट गए हैं उन बहनों से आवेदन लेकर "लाड़ली बहना आवास योजना" में उनका पक्का घर बनाया जाएगा। जिन गरीब लाड़ली बहनों के बिजली के बढ़े हुए बिल आए हैं उनके बढ़े बिल सरकार भरेगी। बढ़े हुए बिजली बिलों को इस महीने तक जीरो कर दिया जाएगा और अगले महीने से जिन बहनों की बिजली खपत एक किलोवाट से कम है उनके बिल सिर्फ ₹100 आएंगे। अगले साल से 12वीं कक्षा में 60 प्रतिशत से अधिक नंबर लाने वाले बच्चों के खाते में ₹25 हजार डाले जाएंगे। बारहवीं कक्षा में गांव और शहर के स्कूल में जो बच्चे प्रथम, द्वितीय, तृतीय रैंक लाएंगे उन्हें स्कूटी दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने ये घोषणाएं आज ग्वालियर में लाड़ली बहना सम्मेलन में की। उन्होंने 1.31 करोड़ लाड़ली बहनों के खाते में सिंगल क्लिक से ₹1269 करोड़ रूपये भेजे। मुख्यमंत्री ने ग्वालियर को ₹387 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात दी।

चौहान ने कहा कि सवा करोड़ लाड़ली बहनों का परिवार अब और भी बड़ा हो गया है। अब 21 से 23 साल की विवाहित बहनें एवं घर में ट्रेक्टर होने के कारण जो बहनें योजना का लाभ पाने से वंचित रह गई थीं, उन्हें जोड़कर अब यह परिवार लगभग 1.31 करोड़ बहनों का हो गया है।

लाड़ली बहनों को 450 रूपये में मिलेगा गैस सिलेंडर

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि लाड़ली बहना योजना से बहनों के जीवन में बदलाव आ रहा है। कई बहनों ने स्वयं के व्यवसाय आरंभ किए हैं। अक्टूबर माह से बहनों को 1250 रूपए प्रतिमाह जारी किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने गैस सिलेन्डर पर 200 रूपए कम किए हैं। हमने सावन में 450 रुपए में गैस सिलेन्डर उपलब्ध कराने का कहा था। इसी क्रम में प्रदेश में एक योजना लागू की जा रही है, जिसके अंतर्गत बहनों को 450 रुपए में गैस सिलेन्डर देने की व्यवस्था होगी और शेष राशि राज्य सरकार द्वारा दी जाएगी।

 महिलाओं के स्व-सहायता समूहों की गतिविधियों का दायरा बढ़ा

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि लाड़ली बहना योजना केवल योजना नहीं बल्कि एक आंदोलन है। यह आंदोलन है, बहनों के दु:ख दूर करने, उनकी जिंदगी खुशहाल बनाने, उन्हें मजबूर नहीं मजबूत बनाने और उनकी जिंदगी बदलने का। बहनों का स्नेह और प्रेम मेरे लिए बिना थके, बिना रूके काम करने की प्रेरणा है।

हमारी सरकार बहनों की आमदनी हर महीने 10 हजार रूपए करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। महिलाओं के स्व-सहायता समूहों द्वारा की जाने वाली गतिविधियों का दायरा लगातार बढ़ रहा है। प्रदेश के तीन टोल टैक्स नाके चलाने तक की जिम्मेदारी भी बहनों को दी गई है। टोल टैक्स से संकलित राशि का 30 प्रतिशत बहनों को दिया जाएगा।

ईश्वर कृपा और बहनों के आशीर्वाद से हुई वर्षा

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मैंने महाकाल महाराज से प्रदेश में पर्याप्त वर्षा की प्रार्थना की है, आज अचलेश्वर महादेव मंदिर पर भी वर्षा के लिए माथा टेका है। ईश्वर कृपा और आप सब बहनों के आशीर्वाद से प्रदेश में वर्षा हो रही है।

हमारी सरकार प्रदेश में गरीब कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। बच्चों की पढ़ाई, युवाओं को रोजगार, परिवारों के लिए आवास, गरीबों के इलाज और उनकी रोजमर्रा की जरूरतें पूरी करने के लिए कई योजनाएँ संचालित की जा रही हैं। महिलाओं के मान -सम्मान की सुरक्षा के लिए सजगता और दुष्टों पर कठोर कार्रवाई जारी हैं। लाड़ली बहना सेना भी बहनों की जिंदगी बदलने के लिए सक्रिय है।

प्रदेश ने की अभूतपूर्व प्रगति

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान महिलाओं, बालिकाओं के सशक्तिकरण, विद्यार्थियों की पढ़ाई और युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए संवेदनशीलता से सक्रिय हैं। उनके नेतृत्व में प्रदेश ने अभूतपूर्व प्रगति की है। केन्द्रीय मंत्री तोमर ने 186 गाँवों में पेयजल उपलब्ध कराने के लिए 344 करोड़ रुपए लागत की घाटीगांव परियोजना के शिलान्यास तथा अन्य निर्माण कार्यों के लिए मुख्यमंत्री चौहान का आभार माना।

केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि समाज में बेटी को बोझ माना जाता था लेकिन मुख्यमंत्री चौहान ने सामाजिक परिवर्तन की सोच और इस दिशा में किए गए कार्यों से बेटियों संबंधी प्रदेशवासियों के दृष्टिकोण को बदला है। महिला सशक्तिकरण के लिए किए गए प्रयासों का प्रभाव स्पष्ट दिख रहा है। मुख्यमंत्री चौहान के नेतृत्व में प्रदेश, देश के अग्रणी राज्यों में शामिल हुआ है। केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने ग्वालियर की पेयजल व्यवस्था के लिए अतिरिक्त राशि स्वीकृत करने का आग्रह किया।

विकास कार्यों का लोकार्पण

मुख्यमंत्री चौहान ने लगभग 4 करोड़ 96 लाख रूपए की लागत से सिरोल क्षेत्र में बने यातायात पार्क, ट्रैफिक एज्यूकेशन सेंटर और ट्रेनीज हॉस्टल, 3 करोड़ रूपए की लागत से 13वीं वाहिनी एसएएफ में बने स्वीमिंग पूल, एक करोड़ 73 लाख रूपए की लागत से नवनिर्मित थाना भवन गिरवाई, 9 करोड़ 79 लाख रूपए की लागत से गार्वेज ट्रांसफर स्टेशन गौशाला और जलालपुर, 7 करोड़ 72 लाख रूपए की लागत से बनाए गए शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय मुरार क्र.-1 के 100 सीटर बालक और 100 सीटर बालिका छात्रावास, 7 करोड़ 72 लाख से निर्मित मॉडल स्कूल डबरा एवं 100 सीटर बालक और 100 सीटर बालिका छात्रावास, 48 लाख रूपए की लागत से बने महिला बाल विकास विभाग के वन स्टॉप सेंटर और 3 करोड़ 46 लाख रूपए की लागत से शाउमावि हरिदर्शन में निर्मित 50 – 50 सीटर बालक व बालिका छात्रावास का वर्चुअल लोकार्पण किया।

निर्माण कार्यों का भूमि-पूजन

मुख्यमंत्री चौहान ने लगभग 144 करोड़ रूपए से अधिक लागत से होने जा रहे पवित्र स्थल भदावना के सौंदर्यीकरण व विकास, 60 करोड़ 75 लाख रूपए की लागत से काशी बाबा सिद्ध क्षेत्र में पार्किंग, पाथ-वे, जन सुविधा केन्द्र व अन्य विकास कार्य, 61 करोड़ 7 लाख रूपए की लागत से बनने जा रहे शासकीय कन्या उमावि पद्मा के भवन, लगभग 40 करोड़ की लागत से बनने जा रहे शासकीय मॉडल उमावि भितरवार के भवन, 3 करोड़ 14 लाख रूपए की लागत से बनने जा रही स्वास्थ्य प्रबंधन संस्थान से गोविंदपुरी चौराहे तक डामरीकृत सड़क, ग्वालियर शहर के वार्ड – 64 के अंतर्गत एक करोड़ 79 लाख रूपए की लागत से बनने जा रही रेशमपुरा की पुलिया से टेहलरी व सिगौरा चौक तक डामरीकृत सड़क व चौड़ीकरण कार्य, 2 करोड़ 25 लाख रूपए की लागत से शताब्दीपुरम की विभिन्न गलियों के डामरीकरण व नाली निर्माण कार्य, एक करोड़ 91 लाख रूपए लागत से औद्योगिक क्षेत्र गोसपुरा में सीमेंट-कंक्रीट रोड़ व आरसीसी इत्यादि कार्य, लगभग 2 करोड़ की लागत से ग्राम सालवई, लगभग 3 करोड़ 12 लाख की लागत से ग्राम गिजौर्रा व 2 करोड़ 84 लाख रूपए की लागत से बनने जा रहे 5 एमवीए 33/11 केव्ही के विद्युत उपकेन्द्र, चीनौर में 5 करोड़ 74 लाख रूपए की लागत से बनने जा रहे छ: बिस्तरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व 30 बिस्तरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के उन्नयन कार्य का भूमि-पूजन भी किया।

जनदर्शन में उमड़ा जन सैलाब

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ग्वालियर की जन-दर्शन यात्रा में उमड़े अपार जन-समूहों ने पुष्प-वर्षा और ढोल-ढमाकों के साथ भव्य स्वागत किया। जन दर्शन यात्रा (रोड शो) के दौरान भारत माता की जय और वंदे-मातरम के घोष के बीच आगे बढ़ते मुख्यमंत्री चौहान के विकास रथ का घरों की छतों, स्वागत मंचों से पुष्प-वर्षा के साथ स्वागत होता रहा। सरकार की विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित हितग्राहियों ने उत्साह के साथ मुख्यमंत्री का स्वागत किया। मुख्यमंत्री से जनदर्शन के दौरान लाड़ली लक्ष्मी, लाड़ली बहना सेना, संबल योजना, किसान सम्मान निधि और आयुष्मान कार्ड से लाभान्वित हितग्राहियों, स्व-सहायता समूहों की दीदियाँ, युवा उद्यमी व सीखो-कमाओ योजना से लाभान्वित युवा, पीएम स्वनिधि से लाभान्वित हितग्राही, स्कूटी वितरण से लाभान्वित विद्यार्थी, उज्ज्वला गैस कनेक्शन से लाभान्वित हितग्राही और प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों ने भेंट की।

मुख्यमंत्री चौहान से रोटरी क्लब, ग्राम रोजगार सहायक, पेट्रोल पम्प एसोसिएशन, राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी एवं उभरती हुई अन्य खेल प्रतिभाएँ, दवा व्यापारी संगठन, अधिवक्ता परिषद, दाल बाजार व्यापार समिति, कैट संगठन, जेसीआई क्लब, संविदा कर्मचारी व अतिथि शिक्षकों ने भी भेंट की तथा स्वागत किया।

यह भी पढ़ें

Follow Ground Report for Climate Change and Under-Reported issues in India. Connect with us on FacebookTwitterKoo AppInstagramWhatsapp and YouTube. Write us on [email protected]