Powered by

Home Hindi

झारखंड : एकतरफा प्यार में अंकिता को ज़िदा जलाने वाला शाहरुख कौन है ?

झारखंड के दुमका में एकतरफा प्यार में अंकिता को ज़िदा जलाने वाला शाहरुख (Shahrukh) कौन है ? घटना पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने क्या कहा

By Ground report
New Update
Jharkhand Dumka

झारखंड (Jharkhand) के दुमका (Dumka) से एक बेहद ही डरा देने वाली घटना सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एकतरफा प्यार में अंकिता सिंह (Ankita Singh) नाम की एक लड़की को शाहरुख (Shahrukh) नाम के लड़के ने पेट्रोल छिड़कर ज़िदा जला डाला। अस्पताल में एलाज के दौरान अंकिता सिंह (Ankita Singh) की मौत हो गई। अब इस घटना की राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा है। मामले में पुलिस ने आरोपी शाहरुख (Shahrukh) और उसके एक दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है। दुमका को पूरी तरह बंद है और धारा 144 लागू है।

Ankita -Shahrukh का क्या है पूरा विवाद

झारखंड के दुमका में एकतरफा प्याप में अंकिता सिंह (Ankita Singh) नाम की लड़की को पेट्रोल डालकर ज़िंदा जला डालने के मामले में शाहरुख (Shahrukh) नाम के लड़को को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दुमका में सांप्रदायिक माहौल ख़राब होने की अशंका के चलके धारा 144 लगा दी गई है। हिंदू संगठन अंकिता की मौत के बाद लगातार विरोध कर रहा है। हेमंत सरकार भी इस मामले के बाद घिरती नज़र आ रही है।

23 अगस्त की सुबह दुमका के फूलो झानो मेडिकल कालेज में अंकिता ने अपनी मौत से पहले  प्रशासन के एक अधिकारी (एग्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट) और स्थानीय मीडिया से बात की थी। वो वीडियो अब वायरल है। जानकारी के मुताबिक़, बाद में बेहतर इलाज के लिय अंकिता को रांची स्थित राजेंद्र आर्युविज्ञान संस्थान (रिम्स) भेजा गया, लेकिन अंकित की मौत हो गई।

अंकित सिंह का एक वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में वो कहती नज़र आ रही, "उसका नाम शाहरुख़ (Shahrukh) है। वह 10-15 दिनों से हमको तंग कर रहा था। हम स्कूल जाते थे तो आगे-पीछे करता था। मेरा नंबर किसी से ले लिया था। बोलता था कि बात नहीं करेगी तो ऐसे करेंगे, वैसे करेंगे। बात नहीं करेगी तो तुमको मारेंगे। वह बहुत लड़कियों से बात करता है। धमकी दिया था हमको। हम पापा को बताए थे। तब तक चार बजे सुबह ऐसा करके (आग लगाकर) चला गया।"

घटना पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने क्या कहा

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने घटना की निंदा करते हुए अंकिता सिंह के परिजनों के लिए 10 लाख के मुआवज़े की घोषणा की है।

उन्होंने कहा, "अंकिता बिटिया को भावभीनी श्रद्धांजलि। अंकिता के परिजनों को रु 10 लाख रुपये की सहायता राशि के साथ इस घृणित घटना का फ़ास्ट ट्रैक से निष्पादन हेतु निर्देश दिया है। पुलिस महानिदेशक को भी उक्त मामले में एडीजी रैंक अधिकारी द्वारा अनुसंधान की प्रगति पर शीघ्र रिपोर्ट देने हेतु निर्देश दिया है।"

दुमका में सांप्रदायिक माहौल ख़राब करने की कोशिश

दुमका में इस घटना के बाद माहौल तनावपूर्ण हो गया। बीजेपी, बजरंग दल और दूसरे हिंदूवादी संगठनों ने बंद का ऐलान करते सड़कों पर विरोध प्रदर्शन किया। पुलिस प्रशासन ने क़ानून व्वयवस्था बनाय रखने के लिय धारा 144 लागू कर दी है। हर चौक-चौराहे पर पुलिस की भारी तैनाती है। स्थानीय पत्रकारों का कहना है कि कुछ लोग इसे सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश कर रहे हैं ।

कौन है Shahrukh जिसने अंकिता को जलाया

पुलिस के मुताबिक़, शाहरुख़ (Shahrukh) का परिवार दुमका ज़िले के ही शिकारीपाड़ा प्रखंड का मूल निवासी है लेकिन वे लोग पिछले कई सालों से दुमका में कच्चा घर बनाकर रहते हैं। अंकिता सिंह को ज़िंदा जलाने वाला शाहरुख उसी मोहल्ले का रहने वाला है जहां अंकिता रहती थी। शाहरुख (Shahrukh) के पिता का काफी पहले मौत हो चुकी है।अंकिता और शाहरुख के परिवार की आर्थिक स्थिति लगभग एक जैसी है। दोनों परिवार के लोग मिट्टी के घर में रहते हैं। घटना के बाद से  शाहरुख़ (Shahrukh) के घर के लोग अभी चुप हैं और इस मुद्दे पर कुछ भी बोलना नहीं चाहते।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें [email protected] पर मेल कर सकते हैं।

Also Read