Powered by

Home हिंदी

Sehore Heavy Rains: 48 घंटों से लगातार बारिश, कई जगह बिजली गुल

सीहोर शहर में पिछले 48 घंटे से लगातार बारिश हो रही है। यहां बारिश के साथ तेज़ आंधी भी आई जिसकी वजह से शहर में जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया।

By Pallav Jain
New Update
sehore floods heavy rain

सीहोर शहर में पिछले 48 घंटे से लगातार बारिश हो रही है। यहां बारिश के साथ तेज़ आंधी भी आई जिसकी वजह से शहर में जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया। प्रशासन ने एहतीयातन दो दिनों के लिए स्कूलों की भी छुट्टी कर दी थी। बारिश की वजह से शहर में कई घंटों तक बिजली भी गुल रही।

भारी बारिश का था अलर्ट

मध्यप्रदेश के 39 जिलों में मौसम विभाग ने भारी बारिश का अलर्ट जारी किया था। राज्य के कई शहरों और कस्बों में सोमवार को भारी बारिश हुई। सीहोर शहर में स्थित सीवन नदी का जलस्तर भी काफी बढ़ गया। बकरी पुल और हनुमान फाटक पर पानी पुल के ऊपर आ गया। ये रास्ते लोगों के लिए बंद कर दिए गए।

घंटों तक बिजली रही गुल

भोपाल एवं आसपास के जिलों में हो रही अत्यधिक बारिश एवं तेज हवा ऑंधी के कारण बिजली लाईनों पर पेड़ों के गिरने, बिजली के खम्भों के टेड़े होने एवं गिरने के कारण बिजली आपूर्ति बाधित रही। कई सबस्टेशनों में पानी भर जाने के कारण फीडर बंद रहा।

खराब मौसम की वजह से हवाई सेवा भी बाधित रही। मुंबई से आने वाली एयर इंडिया की प्लाइट को नागपुर डायवर्ट किया गया ।

2019 की तुलना में बेहतर हैं हालात

sehore floods in 2019
सीहोर में टाउन हॉल स्थित स्टॉप डैम की तस्वीर, वर्ष 2019 और 2022 की

हालांकि सीहोर में इस बार भारी बारिश के बावजूद बाढ़ जैसे हालात नहीं बने हैं। सड़कों पर ज्यादा वॉटर लॉगिंग नहीं देखी गई। इसकी मुख्य वजह बारिश के पहले ही नालियों की सफाई और नालों का गहरीकरण रही है। साल 2019 में भी कुछ इसी तरह भारी बारिश दर्ज की गई थी जिसके वजह से इंग्लिश पुरा के नाले किनारे बसे घरों को काफी नुकसान हुआ था, कई लोगों के घरों में पानी घुस गया था और कुछ घर बाढ़ में बह भी गए थे।

पूरा एमपी बेहाल

जबलपुर, नरसिंहपुर, नर्मदापुरम, सीहोर, विदिशा, ग्वालियर में बाढ़ के हालात देखते हुए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें तैनात की गई है। विदिशा में रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए एयरफोर्स के हेलीकाप्टर मंगाए गए हैं। सोमवार शाम तक नर्मदा नदी, बेतवा नदी के तटवर्ती इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया है।

Also Read

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें [email protected] पर मेल कर सकते हैं।