कौन हैं ऋषि सुनक?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट | न्यूज़ डेस्क

ऋषि सुनक (Rishi Sunak) को जब ब्रिटेन की बोरिस जॉनसन (Borris Johnson) सरकार ने अपना वित्त मंत्री चुना तो हर तरफ उन्हीं के चर्चे शुरू हो गए। हो भी क्यों ना? ऋषि सुनक भारतीय मूल के हैं, उनके माता पिता 1980 में भारत छोड़ ब्रिटेन में बस गए थे। ऋषि को यह पद उनकी काबिलियत की वजह से मिला। यह काम उन्हें ऐसे वक्त मिला है जब ब्रिटेन यूरोपियन यूनियन छोड़ नए आर्थिक रास्ते की तलाश में निकल चुका है।आने वाले महीनों में ब्रिटेन को दुनिया के देशों से अपने व्यापार संबंधों का नया ढांचा खड़ा करना है। यह दौर ब्रिटेन के लिए चुनौतीपूर्ण है। ऐसे समय में देश को सबसे ज़्यादा ज़रूरत एक ऊर्जावान और प्रतिभाशाली वित्त मंत्री की थी, जिसके लिए बोरिस जॉनसन ने ऋषि सुनक को चुना। पहले यह पद पाकिस्तानी मूल के साजिद जाविद के पास था। अब उन्हें हटाकर ऋषि सुनक को यह पद दिया गया है। हमारे लिए यह खुशी की बात इसलिए है क्योंकि एक भारतवंशी का इतना बड़ा पद संभालना गौरव की बात है। सुनक को लेकर एक खास बात और है कि वह सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की दिग्गज भारतीय कंपनी इन्फोसिस के संस्थापक नारायण मूर्ति के दामाद भी हैं।

बोरिस सरकार में भारतीयों का जलवा

ब्रिटेन की बोरिस जॉनसन सरकार में गृह मंत्री पद पर प्रीति पटेल बरकरार हैं और सुनक को वित्त मंत्री की जिम्मेदारी मिली है। ब्रिटिश सरकार के दो अति महत्वपूर्ण पद भारतीयों के हिस्से में आए हैं। गुरुवार को प्रधानमंत्री जॉनसन ने अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया है। भारतीय मूल के आलोक शर्मा और स्वेला ब्रेवरमैन को भी मंत्रिमंडल में प्रोन्नति मिलने की उम्मीद है।

ऋषि का सफर

ऋषि 2015 में चुनाव जीतकर संसद में पहुंचे थे। इसके बाद बहुत तेजी से कंजरवेटिव पार्टी में उन्होंने तरक्की की। वह प्रधानमंत्री की ब्रेक्जिट रणनीति को अंजाम दिलाने में विश्वसनीय व्यक्ति बनकर उभरे। ब्रिटेन में जन्मे सुनक ने ऑक्सफोर्ड और स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालयों में पढ़ाई की है। उनका मूल पेशा इन्वेस्टमेंट बैंकर का है। इन्वेस्टमेंट बैंकर के रूप में उन्होंने राजनीति में आने से कुछ ही पहले एक अरब पाउंड (करीब नौ हजार करोड़ रुपये) की ग्लोबल इन्वेस्टमेंट फर्म स्थापित की थी। सुनक की मां फार्मेसिस्ट थीं जबकि पिता ब्रिटेन की सरकारी स्वास्थ्य सेवा में जनरल प्रेक्टिशनर थे। सुनक बताते हैं कि मां की छोटी सी दवाओं की दुकान में बैठकर ही उन्हें बड़े स्तर पर कारोबार करने का तजुर्बा प्राप्त हुआ। यॉर्कशायर के रिचमंड से कंजरवेटिव पार्टी के सांसद सुनक की शादी मूर्ति की बेटी अक्षता के साथ हुई है।

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.