अब नहीं है कोई ‘धरतीपकड़’

राकेश समाधिया। भारत की राजनीति अगर कई तरह के वाद- विवादों से भरी पड़ी है तो कुछ ऐसे अपवाद हैं,  जिनकी चुनाव में हार के बाद भी छवि धूमिल नहीं हुई। उनके आत्मविश्वास की वजह से उन्हें याद रखा जाएगा। आज हम भारतीय राजनीति के ऐसे शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने … Read more