Skip to content
Home » ‘रामायण एक्सप्रेस’ कितना होगा किराया, कहां से होगा सफर शुरु?

‘रामायण एक्सप्रेस’ कितना होगा किराया, कहां से होगा सफर शुरु?

Ramayan Express route and ticket price

ग्राउंड रिपोर्ट । न्यूज़ डेस्क

मोदी सरकार का ध्यान देश में धार्मिक पर्यटन बढ़ाने पर है। सरकार धार्मिक पर्यटन बढ़ाने के लिए कई काम कर रही है जैसे विशेष तीर्थ स्थानों के बीच रेल-रोड कनेक्टिविटी को बढ़ाना और यात्रियों को सुविधानजनक सफर प्रदान करना। रेल मंत्री पीयूष गोयल और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी इस दिशा में तेज़ी से आगे बढ़ रहे हैं। चाहे चार धाम सड़क योजना हो या ट्रेन के माध्यम से तीर्थ स्थानों को जोड़ने के लिए विशेष ट्रेनों का परिचालन। हम यहां आपको ऐसी ही एक ट्रेन रामायण एक्सप्रेस (Ramayan Express) के बारे में बताने जा रहे हैं। जानिए इस ट्रेन के रुट (Route) किराये (Ticket Price) और सुविधाओं (Booking) के बारे में।

श्री रामायण एक्सप्रेस

भगवान राम से जुड़े स्थलों की तीर्थ यात्रा पर जाने के इच्छुक लोगों के लिए यह ट्रेन चलाई जा रही है। यह विशेष पर्यटन ट्रेन है, इसका परिचालन 28 मार्च 2020 को सफदरजंग रेलवे स्टेशन (नई दिल्ली) से शुरू होगा। इस ट्रेन की 16 रातों-17 दिनों की यात्रा में यात्री भगवान राम से जुड़े तमाम पर्यटन स्थलों का दौरा करेंगे जिन्हें ‘भारत का रामायण सर्किट’ भी कहा जाता है। इस यात्रा के लिए इच्छुक पर्यटक दिल्ली से सफदरजंग, गाजियाबाद, मुरादाबाद, बरेली और लखनऊ से ट्रेन में चढ़ सकते हैं। ‘श्री रामायण एक्सप्रेस’ में दस कोच होंगे जिसमें पांच स्लीपर क्लास के गैर-वातानूकूलित कोच और पांच एसी के 3-टीयर कोच होंगे। यह ट्रेन भगवान राम से जुड़े सभी तीर्थ स्थलों को कवर करेगी। आईआरसीटीसी के मुताबिक बुकिंग पूरी तरह से पहले आओ पहले पाओ के अनुसार होगी।

ट्रेन का रूट मैप

अयोध्या में राम जन्मभूमि तथा हनुमान गढ़ी,

नंदीग्राम में भारत मंदिर

सीतामढ़ी (बिहार) में सीता माता मंदिर

जनकपुर (नेपाल)

वाराणसी में तुलसी मानस मंदिर और संकट मोचन मंदिर

सीतामढ़ी (उत्तर प्रदेश) में सीतामढ़ी स्थल

प्रयाग में त्रिवेणी संगम हनुमान मंदिर और भारद्वाज आश्रम

श्रृंगवेरपुर में श्रृंगी ऋषि मंदिर

चित्रकूट में रामघाट और सती अनुसुइया मंदिर

नासिक में पंचवटी

हंपी में अंजनाद्री हिल एवं रामेश्वरम में ज्योतिर्लिंग शिव मंदिर

सुविधाएं

इस टूर में यात्रियों को पूरी तरह से शुद्ध शाकाहारी भोजन और आवास प्रदान प्रदान की जाएगी। इस टूर में यात्रियों को होटल, धर्मशाला और स्थानीय सफर के लिए बस सेवा भी मिलेगी। यात्रियों को सुबह की चाय, कॉफी भी दी जाएगी. इस टूर में यात्रियों को सुबह का नाश्ता, दोपहर का खाना और डिनर दिया जाएगा।

किराया

इसका किराया स्‍लीपर क्लास में प्रति व्‍यक्ति 16,065 रुपये होगा, जबकि वातानुकूलित श्रेणी में प्रति व्यक्ति किराया 26,775 रुपये होगा। इस यात्रा के अंतर्गत इच्‍छुक पर्यटक श्रीलंका में भगवान राम से जुड़े पर्यटन स्‍थलों का भी दौरा कर सकते हैं। अगर यात्री श्रीलंका जाना चाहते हैं तो उन्हें अतिरिक्त शुल्क देना होगा। यात्री चेन्नई से कोलंबो के लिए उड़ान भर सकते हैं। श्रीलंका में ‘रामायण सर्किट’ के दर्शन के इच्‍छुक पर्यटकों से प्रति व्यक्ति 37,800 रुपये का अतिरिक्त शुल्क लिया जाएगा।

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

%d bloggers like this: