पीएम मोदी अब पहनते हैं एप्पल की घड़ी

पीएम मोदी अपने लुक्स पर खास ध्यान देते है। कपड़ों से लेकर गैजेट्स तक का वो खास ख्याल रखते हैं। उनके पास काफी महंगे गैजेट्स हैं। मोदी जो घड़ी पहनते हैं वो भी काफी खास है। वो अक्सर स्विस कंपनी मोवाडो की घड़ियां पहनते दिखाई देते थे। लेकिन पीएम मोदी ने अब एप्पल की आई वॉच पहनना शुरु कर दिया है। इस घड़ी की कीमत मोवाडो की घड़ियों से तो कम है लेकिन ये तकनीकी तौर पर इंसान को आगे रखती है।

पीएम मोदी का घड़ी प्रेम

नरेंद्र मोदी को शुरु से ही घड़ियो का खास शौक रहा है, वो पहले स्विस कंपनी मोवाडो की घड़ियां पहनते थे, जिसकी कीमत 1.3 लाख के करीब होती है। घड़ी में उन्हें ब्लैक बैंड ही पसंद है। उनकी एप्पल आई वॉच का कलर भी ब्लैक ही है। मोदी का घड़ी पहनने का तरीका भी अलग है, वो घड़ी अपसाईड डाउन पहनते हैं। अक्षय कुमार ने जब पीएम मोदी से इसकी वजह पूछी तो उन्होंने बताया था कि कार्यक्रमों में बार-बार घड़ी की तरफ देखने से लोगों को अपमानित महसूस होता है। इसलिए वो उल्टी तरफ घड़ी बांधते हैं ताकि पता न चले की वो समय देख रहे हैं।

टेक्नोफ्रेंडली मोदी

पीएम मोदी नई नई तकनीक का इस्तेमाल करना सीखते रहते हैं। एप्पल आई वॉच पहनने की भी यही वजह हो सकती है, क्योंकि यह मार्केट में सबसे हाईटेक व़ॉच है।

Also Read:  Why is PM Modi's upcoming visit to Germany important?

क्या हैं एप्पल आई वॉच के फीचर्स

यह दो साइज- 41mm और 45mm में आती है। भारत में इसकी कीमत 41,900 रुपये से शुरू होती है।एप्पल वॉच सीरीज 7 में Always On Display का फीचर दिया गया है, जिसके चलते आपको टाइम देखने के लिए स्क्रीन टच करने की जरूरत नहीं होती। क्रैक-रेजिस्टेंट होने के साथ ही यह वाटर और डस्ट रेजिस्टेंट भी है। Apple Watch Series 7 हमेशा कनेक्ट रहने के लिए सभी सुविधाएं मिलती हैं। इसमें आपको अपने फोन के सभी नोटिफिकेशन तो मिलते ही हैं। साथ ही आप चाहें तो मैसेज का रिप्लाई भी एप्पल वॉच से ही कर सकते है। इसके अलावा आपको कॉलिंग की सुविधा भी दी गई है। यानी आप फोन रिसीव भी कर सकते हैं और डायल भी कर सकते हैं।

सीधे तौर पर देखें तो आपको आईफोन इस्तेमाल करने की भी जरूरत नहीं है, सब काम स्मार्टवॉच से ही हो जाएगा। इसमें सिरी वॉइस असिस्टेंट का सपोर्ट भी दिया गया है। एप्पल वॉच के जरिए आप ब्लड ऑक्सीजन लेवल पता करने से लेकर ECG टेस्ट करने तक का काम कर सकते हैं।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Also Read