Powered by

Advertisment
Home हिंदी

बच्चों को सफ़ाई-संस्कृति से संस्कारित कराया राज्यपाल मगुभाई पटेल ने सफ़ाई कर्मचारियों के साथ श्रमदान किया

Rajyapal mangu bhai patel burhanpur madhya Pradesh bhopal

By himanshubadodekar
New Update
Rajyapal mangu bhai patel burhanpur madhya Pradesh bhopal

राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने 1 अक्टूबर को “एक तारीख, एक घंटा, एक साथ” अभियान के तहत स्वच्छता गतिविधियों में शामिल होकर श्रमदान किया। राज्यपाल श्री पटेल ने न्यू मार्केट परिसर में झाड़ू लगाकर कचरा साफ़ किया। उन्होंने ‘स्वच्छता के लिए श्रमदान’ कार्यक्रम में उपस्थित जनों और सफ़ाई कर्मियों को स्वच्छता की शपथ दिलाई। राज्यपाल ने इन्दौर का उदाहरण देते हुए भोपाल वासियों को देश में स्वच्छता का सिरमौर बनने के लिए प्रेरित किया। न्यू मार्केट व्यापारी संघ और जन प्रतिनिधियों ने राज्यपाल पटेल को पौधा और शॉल भेंट कर अभिनंदन किया।राज्यपाल पटेल ने कहा कि सफ़ाई संस्कृति से बच्चों को संस्कारित करें। अपने घर, परिसर को हमेशा स्वच्छ रखने की महत्ता बताएं। स्वच्छता को आदत बनाएं। बच्चों को सफाई रखने की प्रेरणा, स्वयं के आचरण और व्यवहार से दें। स्वच्छता अभियान एक दिन का अभियान नहीं है, इसे हमें साल के 365 दिन संचालित करना चाहिए।भोपाल नगर निगम महापौर मालती राय उपस्थित थीं। उल्लेखनीय है कि 16 से 30 सितम्बर तक देश भर में ‘स्वच्छता ही सेवा’ पखवाड़ा मनाया गया, जिसके तहत स्वच्छता पर आधारित अनेक गतिविधियों का आयोजन किया गया। इसके तहत एक अक्टूबर को प्रातः 10 बजे से ‘स्वच्छता के लिए श्रमदान’ कार्यक्रम के तहत “एक तारीख, एक घंटा, एक साथ” अभियान आयोजित हुआ।खेड़ापति हनुमान मंदिर में किया पूजनराज्यपाल पटेल न्यू मार्केट स्थित खेड़ापति हनुमान मंदिर पहुँचे। उन्होंने यहाँ विधि-विधान से पूजन-अर्चन किया और प्रदेश की खुशहाली की प्रार्थना की। मंदिर ट्रस्ट प्रबंधन समिति के सदस्यों ने मंदिर पहुँचने पर राज्यपाल पटेल का अभिनंदन किया।

Keep Reading

भोपाल की आदमपुर कचरा खंती वन्य प्राणियों को कर रही बीमार, प्रवासी पक्षियों ने बदला ठिकाना!

मध्यप्रदेश में धान के खेतों में दरारें,सोयाबीन सूखा, आने लगे किसानों को मैसेज कर्ज़ चुकाने

बुरहनपुर में जागृत आदिवासी दलित संगठन (JADS) के कार्यकर्ता नितिन की गिरफ्तारी पर उठते सवाल

लौह खदानों से लाल हो रही गढ़चिरौली के आदिवासियों की ज़मीन, “यहां अब बीज से अंकुर नहीं निकलता”

Follow Ground Report for Climate Change and Under-Reported issues in India. Connect with us