Home » HOME » कहीं आपने तो डाउनलोड नहीं किया ज़ूम एप, जानिए क्यों है खतरनाक?

कहीं आपने तो डाउनलोड नहीं किया ज़ूम एप, जानिए क्यों है खतरनाक?

why zoom app is dangerous
Sharing is Important

ग्राउंड रिपोर्ट। टेक डेस्क

जैसे ही देश में लॉकडाउन हुआ घर से काम करने के लिए सहूलियतें तलाशी जाने लगी। ज़ूम ऐप (Zoom Video conferencing APP) ने लोगों को वह सहूलियत दी। ज़ूम एप एक वीडियो कॉलिंग का एप्लीकेशन है जो एंड्रायड और ओएस मोबाईल पर उपलब्ध है। इस ऐप के ज़रिए आसानी से कई लोग एक साथ वीडियो चैट कर सकते हैं। दुनिया समेत भारत में चंद ही दिनों में यह एप लोकप्रिय हो गया क्योंकि इसको डाउनलोड करना और इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है। लेकिन आसानी के साथ इस ऐप में बहुत सारी खामियां है जो खतरे का सबब बन गई हैं।

  1. जूम ऐप आपकी सुरक्षा के लिए खतरा है क्योंकि इस एप्लीकेशन को इस्तेमाल करने के लिए आप अपनी ईमेल आईडी इसमें डालते हैं। इस ऐप्लीकेशन में आपका डेटा सुरक्षित नहीं रहता। आपकी ईमेल आईडी के ज़रिये आपकी सारी जानकारी पब्लिक हो सकती है।
  2. ज़ूम ऐप वॉट्सएप और स्काईप की तरह एंड-टू-एंड इन्क्रिप्शन की सुविधा नहीं देता। इस फीचर से आपका डेटा सुरक्षित रहता है। इस ऐप के ज़रिये आपका डेटा हैक किया जा सकता है।
  3. जूम ऐप के इस्तेमाल के वक्त आप उसे अपना कैमरा एक्सेस करने की इजाज़त देते हैं। यह ऐप की मर्ज़ी के बगैर भी आपका कैमरा ऑन कर सकता है और आपको पता भी नहीं चलेगा। इससे आपकी प्राईवेसी खतरे में पड़ सकती है।
  4. हाल ही में आई खबर के मुताबिक ज़ूम अकाउंड का डेटा महज़ 10 पैसे में डार्क वेब को बेच दिया गया। यानि सस्ते में आपका डेटा पब्लिक हो चुका है।
  5. ज़ूम ऐप टिकटॉक को पछाड़ते हुए भारत में नंबर वन फ्री एप बन चुका है। अब तक 5 करोड़ लोग इसे डाउनलोड कर चुके हैं।
READ:  Who is Vir Das, what's his two Indias controversy

अगर आपने भी ज़ूम एप डाउनलोड किया है तो तुरंत इस अनइंस्टॉल कर दें और अपना ईमेल आईडी पासवर्ड बदल लें। आपका डेटा लीक हुआ है या नहीं इसकी जांच के लिए आप Have I Been Pwned वेबसाईट पर जाकर अपना ईमेल आईडी डालें, इससे यह पता चलेगा कि किसी डेटा लीक में आपकी ईमेल आईडी हैक हुई है या नहीं।

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।