Home » HOME » वर्क फ्रॉम होम, लंबी सिटिंग से हो सकती है आपके शरीर को ये बड़ी समस्या !

वर्क फ्रॉम होम, लंबी सिटिंग से हो सकती है आपके शरीर को ये बड़ी समस्या !

वर्क फ्रॉम होम

अगर आप भी इन दिनों वर्क फ्रॉम होम (Work From Home) यानी घर से काम कर रहे हैं, तो ये लेख आप ही के लिए लिखा गया है । विश्वभर में कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के बाद अधिकतर देशों में लॉकडाउन लगाकर कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने की कोशिशें लगातार जारी हैं। दुनिया के कई देशों ने कोरोना से जंग जीत कर अपने देश को कोरोना मुक्त भी कर लिया है ।

कोरोना संकट के बीच लगे लॉकडाउन ने नौकरी पेशा लोगों के काम करने के तरीक़ों में काफीं बदलाव ला दिया है । लगभग सभी कंपनियों ने अपनी कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम करने को कह रखा है। मगर घर पर रहकर काम करने के कारण बहुत सारे लोग इन दिनों कमर और पीठ में दर्द की समस्या झेल रहे हैं। ज्यादातर लोगों में ये समस्याएं पिछले कुछ दिनों से ही शुरू हुई हैं, जब से उन्होंने घर से काम करना शुरू किया है। कुछ कंपनियां वर्क फ्रॉम होम को लेकर इस विचार-विमर्श में हैं कि इसे हमेशा के लिए अपनाया जा सकता है या नहीं ।

READ:  Why India need disabled-friendly infrastructure?

आजकल की स्ट्रेस भरी लाइफस्टाइल में 10 से 12 घंटे का समय तक लोग काम करने को मजबूर होते हैं। देर तक एक ही पोज़िशन में कुर्सी पर बैठने, लंबे समय तक एक्सरसाइज़ न करने या ग़लत पोज़िशन में बैठने से कमर में तेज़ दर्द हो सकता है। कभी कभार कमर में दर्द ठीक लगता है, लेकिन कई बार ये दर्द परेशान कर देता है।

क्या है पीठ और कमर दर्द का कारण?

घर पर काम करने वाले लोगों में अचानक से पीठ और कमर दर्द की समस्या इसलिए शुरू हो गई है, क्योंकि उन्होंने अपने आपको ऑफिस के अनुसार घर पर ढालने की कोशिश नहीं की है। घर पर की गई छोटी-छोटी कई गलतियां आपके पीठ और कमर दर्द का कारण बन रही हैं ।

बिस्तर पर बैठे-बैठे काम करना। उचित उंचाई की मेज और कुर्सी की व्यवस्था न होना। आड़े-तिरछे पोजीशन में बैठकर काम करना। जल्दी के बीच-बीच में उठकर टहलना या घूमना नहीं, जबकि ये जरूरी है। घर पर ऑफिस की अपेक्षा पानी कम पीना ।जरूरत से ज्यादा खाना और रोजाना की अपेक्षा ज्यादा सोना।

READ:  Is Omicron variant affecting children more?

धनतेरस पर क्यों होती है झाड़ू की पूजा, क्या है इसका महत्व?

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups.