MP : थाना प्रभारी ने कोरोना के खिलाफ साहसिक जंग लड़ते हुए अपने प्राणों की दे दी आहुति

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report | News Desk

मध्यप्रदेश में एक और पुलिस अधिकारी की कोरोना से लड़ाई के दौरान मौत हो गई है। 59 साल के थाना प्रभारी यशवंत पाल का इंदौर में निधन हो गया है। उनका इलाज इंदौर में चल रहा था। पाल उज्जैन जिले के नीलगंगा इलाके के थाना प्रभारी थे। 27 मार्च को उनके थाना क्षेत्र की अंबर कॉलोनी में संतोष वर्मा नामक युवक की मौत हो गई थी। इसके बाद वो खुद कंटेंटमेंट क्षेत्र के आसपास की व्यवस्था देख रहे थे। यहीं पर वो कोरोना के संक्रमण में आ गए और उनकी हालत बिगड़ती चली गई।

READ:  CM Kejriwal announces weekend curfew in Delhi. Check all details

इंदौर के अरविंदो अस्पताल के चेयरमैन डॉक्टर विनोद भंडारी के अनुसार थाना प्रभारी यशवंत पाल का दुखद निधन मंगलवार सुबह 5:10 बजे हुआ। उन्हें आज से 10 दिन पहले गंभीर स्थिति में यहां लाया गया था। उस समय उनके दोनों फेफड़ों में निमोनिया था और उन्हें सांस लेने में काफी तकलीफ थी। उनका ऑक्सीजन रेशियो भी 60 प्रतिशत था। निरंतर इलाज के बाद भी उनकी स्थिति में सुधार नहीं आया। उन्हें 48 घंटे वेंटिलेटर पर रखा गया क्योंकि उनका एक्यूट रेस्पिरेट्री डिस्ट्रक्ट सिंड्रोम काफी सीवियर था। हर संभव प्रयास के बाद भी हम उन्हें बचा नहीं पाए।

मध्य प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ने कहा, ‘उज्जैन के नीलगंगा थाना प्रभारी यशवंत पाल ने कोरोना के खिलाफ साहसिक जंग लड़ते हुए अपने प्राणों की आहुति दे दी। एक हफ्ते में मध्यप्रदेश पुलिस के दो बहादुर अधिकारियों ने कर्तव्यपथ पर प्राण न्यौछावर कर दिए। इनके बलिदान से हम शोकाकुल हैं। यशवंत की शहादत को कोटिशः नमन व श्रद्धांजलि।’

READ:  Delhi Covid wave worsens: 8 cases per minute, 3 deaths every hour

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।