Home » Cricketer Yashpal Sharma: 1983 वर्ल्ड कप जीत के हीरो पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा का निधन

Cricketer Yashpal Sharma: 1983 वर्ल्ड कप जीत के हीरो पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा का निधन

Yashpal Sharma
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Yashpal Sharma:1983 की विश्व कप विजेता टीम के सदस्य पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा (World Cup Winner Yashpal Sharma) का आज सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन (Dies Of Heart Attack) हो गया। 66 वर्षीय यशपाल शर्मा (Yashpal Sharma) टीम इंडिया के सेलेक्टर के पद पर भी रह चुके थे। । विश्व कप के सेमीफाइनल में यशपाल शर्मा ने इंग्लैंड के खिलाफ टीम का सर्वाधिक स्कोर बनाकर भारत को फाइनल में पहुंचाने में अहम भूमिका अदा की थी।

रिपोर्ट के मुताबिक यशपाल शर्मा (Yashpal Sharma) आज सुबह मॉर्निंग वॉक पर गए थे। मॉर्निंग वॉक से लौटकर उन्होंने घर पर कहा था कि उन्हें थोड़ा अजीब लग रहा है। उन्होंने सीने में दर्द की शिकायत भी की थी। जिसके बाद उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाने की कोशिश की गई, लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही सुबह 7:40 बजे उनका निधन हो गया। उनके परिवार में पत्नी, दो बेटियां और एक बेटा है।

यशपाल शर्मा (फाइल फोटो)

नागरिक उड्डयन मंत्री बनते ही सिंधिया की मध्य प्रदेश को बड़ी सौगात!

37 टेस्ट और 42 वनडे खेले

बल्लेबाज यशपाल शर्मा ( Cricketer Yashpal Sharma) ने अपने करियर में भारत के लिए 37 टेस्ट और 42 वनडे खेले। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने 33.45 की औसत से 1606 रन बनाए थे। इसमें दो शतक और 9 अर्धशतक शामिल थे। टेस्ट में 140 रन उनका सर्वाधिक स्कोर था।

READ:  मैरी कॉम ने धमाकेदार आगाज से किया प्री-क्वार्टर फाइनल में प्रवेश

1978 में क्रिकेट करियर की शुरूआत की थी

यशपाल शर्मा (Yashpal Sharma) विकेटकीपर के साथ मीडियम फास्ट बॉलर भी थे। उन्होंने टेस्ट और वनडे में 1-1 विकेट भी लिया। उन्होंने क्रिकेट करियर की शुरूआत 13 अक्टूबर 1978 को वनडे से की थी। इसके अगले साल उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में भी डेब्यू किया। यह मैच 2 अगस्त 1979 को लॉर्ड्स में खेला गया था।

यशपाल शर्मा (Yashpal Sharma) ने सिंयालकोट में पाकिस्तान के खिलाफ अपना पहला वन डे खेला था। वनडे में उनके नाम 42 मैचों की 40 पारियों में 883 रन दर्ज हैं। जिसमें 4 अर्धशतक भी शामिल हैं। उनका सर्वाधिक स्कोर एकदिवसीय क्रिकेट में 89 रन था। 1985 में अपने करियर का आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले यशपाल शर्मा को सात साल के अंतराल में कभी कोई गेंदबाज शून्य पर आउट नहीं कर सका।

हमले की तैयारी में था अल-कायदा, UP ATS ने दो आतंकियों को पकड़ साजिश को किया नाकाम!

वनडे में नहीं कर सके वापसी

साल 1983 के वर्ल्डकप के बाद यशपाल शर्मा (Yashpal Sharma) का करियर लगातार ढलान की ओर जाने लगा। खराब परफॉर्मेंस के कारण यशपाल शर्मा को पहले टेस्ट टीम से बाहर निकाला गया, उसके बाद वह वनडे में भी वापसी नहीं कर पाए।

साथी खिलाड़ियों ने किया यशपाल को याद….

विश्व विजेता टीम में यशपाल शर्मा के साथ खेलने वाले पूर्व भारतीय क्रिकेटर मदनलाल ने अपने साथी खिलाड़ी के निधन पर कहते हुए दु:ख जताया कि वह विश्वास नहीं कर पा रहे हैं कि ऐसा हुआ है। हमने पंजाब से खेल की शुरुआत की थी, फिर वर्ल्डकप में हम एक साथ खेले। मदनलाल ने बताया कि अभी कपिल देव और टीम के अन्य सदस्यों से भी बात हुई है, हर कोई इस खबर से हैरान है। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव और दिलीप वेंगसरकर ने भी यशपाल शर्मा की मौत पर गहरा दुःख जताया है।

READ:  Kashmir: 60 साल पहले मर चुके शख्स को लगा डाला कोरोना का टीका!

Ground. Report के साथ फेसबुक, ट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं