Home » राष्ट्रपति कोविंद के काफिले के कारण महिला और मासूम की मृत्यु !

राष्ट्रपति कोविंद के काफिले के कारण महिला और मासूम की मृत्यु !

President Kovind | राष्ट्रपति कोविंद के काफिले के कारण महिला और मासूम की मृत्यु !
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report | News Desk | President RamNath Kovind | Women & child dies due to vvip movement | राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के कानपूर दौरे की वजह से लगे जाम के कारण एक महिला की मृत्यु होगयी। कोविंद सूबे के तीन दिवसीय दौरे के लिए कल रात ट्रेन से कानपुर आये थे, वह अपने पितृ गांव भी जायेंगे, जिसके बाद सोमवार और मंगलवार को वह लखनऊ में रहेंगे।

25 जून की शाम को राष्ट्रपति की विशेष ट्रेन को जाने के लिए गोविंदनगर में जब क्रासिंग बंद कर दी गयी, तो वहाँ बहुत ज़्यादा ट्रैफिक लग गया। इस VVIP मूवमेंट की वजह से 50 वर्षीय महिला व्यापारी की जान चली गयी। ट्रैफिक लगे होने के कारण निजी गाड़ी से अस्पताल जा रही पोस्ट कोविड महिला मरीज़ वंदना मिश्रा जाम में फंस गयी, एक घंटे तक ट्रैफिक लगा रहा और क्रासिंग खुलने के बाद ट्रैफिक नार्मल होने में आधे घंटे का समय और निकल गया। जब तक वंदना अस्पताल पहुंची तब तक उनकी मृत्यु हो चुकी थी। कल ही CRPF की एक गाड़ी के नीचे आकर कुचलने से एक बच्ची की मौत हो गयी। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी को जांच करने के लिए कहा गया है और घटना के लिए एक सब इंस्पेक्टर और तीन कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया है।

READ:  What is the salary of PM and President of India?

तीसरी लहर रोकने के लिए रोज़ एक करोड़ टीके लगाना ज़रूरी : एक्सपर्ट्स

वंदना मिश्रा इंडियन एसोसिएशन ऑफ़ इंडस्ट्रीज (IIA) की कानपुर यूनिट के महिला विंग की प्रमुख थी। वह लगातार 7 वर्षो तक IIA के कानपुर यूनिट की जनरल सेक्रेटरी भी रहीं। इसी के साथ वह सफल व्यापारी भी थी, उन्होंने अपनी मेहनत से घरेलू रसोई मसाले बनाने की फैक्टरी भी खड़ी की थी। उनके सहियोगीयों के मुताबिक वह समाजसेवा के काम में भी आगे रहती थी, महिलाओं को आगे आने के लिए वह सदैव प्रेरित किया करती थी। घटना की जानकारी होते ही राष्ट्रपति और उनकी पत्नी ने घटना पर दुख जताया और प्रसाशन को निर्देश दिए की इस प्रकार की घटना दोबारा न हो।

इससे पूर्व राष्ट्रपति ( President Ramnath Kovind) की सुरक्षा के लिए भेजे जा रहे CRPF के जवानो की तेज़ रफ़्तार गाड़ी की एक मोटरसाइकिल से टक्कर हो गयी, जिसके बाद गाड़ी पर सवार तीन साल की मासूम गिर गयी और गाड़ी के पहियों के नीचे आ जाने से उसकी मृत्यु हो गयी। वंदना मिश्रा के अंतिम संस्कार के दौरान पुलिस कमिश्नर और शहर के डीएम भी स्थल पर मौजूद रहे और माफ़ी मांगी। कमिश्नर ने वंदना के पति से माफ़ी मांगते हुए कहा की अगर उन्हें ये सूचना रहती की ट्रैफिक में एक मरीज़ फसा हुआ है तो वह सबसे पहले उसे अस्पताल पहुंचाते।

READ:  किस वजह से ट्विटर ने किया देश के कानून और आईटी मंत्री का अकाउंट बैन !

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।