टीएमसी नेता की गुंडागर्दी, रस्सी बांधकर महिला को सड़क पर घसीटा

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट न्यूज़ डेस्क

सोशल मीडिया पर पश्चिम बंगाल का एक वीडियो सामने आया है जिसमें एक टीचर को रस्सी से बांधकर सड़क पर घसीटा जा रहा है. वीडियो बेहद भयावह है, और भीड़ इस बदसुलूकी को भीड़ तमाशबीन बनी देख रही है. भीड़ की अगुवाई टीएमसी पंचायत नेता अमल सरकार कर रहा था. बताया गया है कि महिला शिक्षक ने सड़क निर्माण के लिए अपनी जमीन हड़पे जाने का विरोध किया था.इस पर नाराज तृणमूल समर्थकों ने उसे पीटा और रस्सी बांधकर करीब 30 फीट तक सड़क पर घसीटा. सड़क पर टीचर को घसीटते देख उसकी बहन ने इसका विरोध किया तो उसे भी धक्का देकर जमीन पर गिरा दिया गया और उसके साथ मारपीट और गालीगलौच की गयी.

तृणमूल नेता अमल सरकार की अगुवाई में की गई मारपीट

पश्चिम बंगाल के गंगारामपुर की ये घटना 31 जनवरी की है, और ये महिला पास ही के एक स्कूल में टीचर है. इस घटना के बाद टीएमसी जिला अध्यक्ष अर्पिता घोष ने अमल सरकार के निलंबन के आदेश दे दिए थे. लेकिन रविवार रात तक भी कोई गिरफ्तारी नहीं हुई थी. वीडियो में देखा जा सकता है कि एक महिला को जमीन पर गिराकर पीटा जा रहा है. उसके पैरों में रस्सी बाँधी जा रही है और बाकी लोग उसे सड़क पर घसीटना शुरू कर देते हैं. उसकी बड़ी बहन वहां पहुंची तो उसने भीड़ पर चिल्लाना शुरू किया. इसके बाद उसे भी जमीन पर गिराकर घसीटा गया और उसकी बहन के पास लाकर गिरा दिया.

शाहीन बाग़ गोली कांड: DCP चिन्मय बिस्वाल पर गिरी गाज

महिला का आरोप है कि तृणमूल नेता अमल सरकार की अगुवाई में उसके साथ मारपीट की गई. दोनों महिलाओं के अनुसार, पहले उन्हें बताया गया था कि उनके घर के सामने बनी सड़क 12 फीट चौड़ी होगी तब वे जमीन देने के लिए तैयार हो गई थीं. लेकिन फिर पंचायत ने सड़क को 24 फीट चौड़ा करने का फैसला किया, जिसके बाद उन्हें अपनी जमीन का ज्यादा नुकसान होता. लेकिन जब महिला ने शुक्रवार को इसका विरोध किया तो लोगों ने इकट्ठा होकर इनके साथ मारपीट कर दी.

गांधी का सत्याग्रह था ढोंग, इतिहास पढ़कर खून खौलता है:भाजपा नेता

दोनों महिलाओं को अस्पताल ले जाया गया. लेकिन इलाज के बाद शनिवार को डिस्चार्ज किया गया. महिला ने रविवार को पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई. इसमें उन्होंने ग्राम पंचायत उपाध्यक्ष अमल सरकार का नाम लिया है, जिसने हमला करने का निर्देश दिया था.