Home » HOME » भारत में अभी भी धीमी है कोरोना टेस्ट की रफ्तार

भारत में अभी भी धीमी है कोरोना टेस्ट की रफ्तार

टीकाकरण
Sharing is Important

Ground Report | News Desk

भारत में पिछले दो दिनों में कोरोना पॉज़िटिव मामलों में कमी आई है यह राहत की बात है लेकिन अभी भी देश में कोरोना के लिए होने वाले टेस्ट की रफ्तार धीमी बनी हुई है। अगर दूसरे देशों से तुलना करें तो यह बहुत कम है। हालांकि पिछले कुछ हफ्तों में यह रफ्तार पहले की तुलना में बढ़ी है लेकिन यह संतोषजनक नहीं है। इसकी मुख्य वजह टेस्ट किट में कमी होना है।

भारत ने बुधवार को करीब 27,000 कोविड -19 टेस्ट किए और पिछले दो दिनों में 22 नई लैब तैयार कीं, जिससे तेजी से टेस्ट किए जा सकें। लेकिन कई कारणों से देरी का सामना करना पड़ रहा है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, बुधवार को संसाधित किए गए 26,351 नमूने महीने की शुरुआत में लगभग 5,000 प्रति दिन की संख्या में पांच गुना बढ़े हैं। निजी लैब सहित कुल प्रयोगशालाओं की संख्या अब 258 है।

READ:  Bank Sakhis to the Rescue

सचिव,  मेडिकल इमरजेंसी की तैयारियों पर पीएम की उच्च-स्तरीय समिति के सह-अध्यक्ष और पर्यावरण मंत्रालय के सचिव सीके मिश्रा ने बताया कि हमने और लैब तैयार की हैं, और चूंकि सैंपल कलैक्शन और डेटा एंट्री में बाधाएं आ रही थीं, इसलिए हमने सैंपल कलैक्शन की प्रणाली को मजबूत किया है और लोगों के टेस्ट के लिए ट्रेनिंग दी।

भारत को कोरोना से जंग लड़ने के लिए ज्यादा से ज़्यादा लोगों के टेस्ट करने होंगे ताकि संक्रमित लोगों को आईसोलेट कर संक्रमण को रोका जा सके। इसके लिए सरकार पूरी तरह प्रयास कर रही है। उम्मीद है जल्द भारत कोरोना पर काबू पा लेगा।

READ:  Covaxin 77% effective against Covid: Lancet study

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।