Home » यह देरी ले डूबेगी: रिपोर्ट आने में लग रहा 5 दिन का समय

यह देरी ले डूबेगी: रिपोर्ट आने में लग रहा 5 दिन का समय

CORONAVIRUS cases in jammu Kahsmir
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report | News Desk

देश में कोरोना का कहर जारी है। लॉकडाउन के बावजूद भारत में कोरोना के मामले का ग्राफ उपर की तरफ जा रहा है। जिन इलाकों को कंटेनमेंट ज़ोन बनाया गया है वहा मामलो में कमी देखी जा रही है। लेकिन जो इलाके अभी ग्रीन ज़ोन में है वहां लोगों की लापरवाही की वजह से लगातार नए मामले दर्ज किये जा रहे हैं। एक बड़ी मुश्किल जांच रिपोर्ट आने में लग रहे समय की वजह से भी खड़ी हो रही है। देश के पांच बड़े राज्य दिल्ली, यूपी, बिहार, झारखंड और मध्यप्रदेश में जांच रिपोर्ट आने में काफी समय लग रहा है जिससे संक्रमितों की समय से पहचान कर उसे आईसोलेट करने में भी देरी हो रही है। तब तक संक्रमित मरीज़ और लोगों में वायरस फैलाता रहता है। दिल्ली में 26 घंटे से लेकर 3 दिन तक का समय लग रहा है तो यूपी के कई शहरोें में रिपोर्ट 5 दिन में आ रही है।

READ:  Covid vaccine for children in India

क्यों लग रहा समय?

देश के सभी शहरों में जांच की सुविधा नहीं है, छोटे शहर बड़े शहरों पर जांच रिपोर्ट के लिए आश्रित हैं। जिन प्रयोगशालाओं में टेस्ट हो रहे हैं उनपर काफी दबाव है। 5 राज्यों में 15 हज़ार से ज्यादा जांच रिपोर्ट अभी लंबित पड़ी हैं। देश की 288 प्रयोगशालाओं में 60 हज़ार टेस्ट रोज़ाना करने का दबाव है।

आईसीएमार के मुताबिक जांच प्रक्रिया में महज़ 6 घंटे का समय लगता था, जो घटकर अब 4 घंटे रह गया है। लेकिन 24 घंटे से लेकर 5 दिन तक का समय अलग ही कहानी बयां कर रहा है।

आपको बता दें कि कोरोना को रोकने का एकमात्र तरीका जांच कर संक्रमित को आईसोलेट करना ही है। अगर ऐसा समय से नहीं होता तो वायरस से संक्रमण का दायरा बढ़ जाता है।

READ:  Covishield vaccine approved in Britain : ब्रिटेन ने कोविशील्ड को दी मंजूरी, वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट को लेकर अभी भी फंसा दांव

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।