क्यों ट्विटर पर ट्रेंड हो रहे हैं हंसराज मीणा के ख़िलाफ़ हैशटैग्स?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

“हंसराज गा*** मरवा कर पैसा कमाओ”, “हंसराज एक बाप का नहीं” और “हंसराज मीणा हलाला की औलाद” जैसे हैशटैग्स आज सुबह से ही ट्रेंड कर रहे हैं.

न्यूज़ डेस्क, ग्राउंड रिपोर्ट
अगर आप ट्विटर चलाते हैं और राजनीति में दिलचस्पी भी रखते हैं तो पिछले दो तीन दिन में हंसराज मीणा का नाम ट्विटर आपने ज़रूर देख लिया होगा। पिछले तीन दिन से लगातार मीणा किसी न किसी वजह से ट्रेंड हो रहे हैं। कभी उनके समर्थक समर्थन में हैशटैग्स लिख रहे हैं और संघ के लोगो पलटवार में उन्हें गाली भरे हैशटैग के साथ ट्रेंड करा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: हंसराज मीणा के खिलाफ ट्विटर पर ट्रेंड किया गाली भरा हैशटैग, आरएसएस से की थी दान देने की अपील

शनिवार सुबह मीणा ने बीसीसीआई से कोरोना पीड़ित लोग और देश को इस संकट से निपटने के लिए दान की अपील की थी। शाम तक कई घंटे उनका हैशटैग “शेम ऑन बीसीसीआई” टॉप ट्रेंड पर रहा। शाम होते होते बीसीसीआई ने 51 करोड़ की राशि पीएम केयर फंड में देने का ऐलान किया। कई मीडिया संस्थानों ने ये खबर तो चलाई की बीसीसीआई ने दान दिया है, लेकिन कहीं भी हंसराज मीणा का नाम नहीं आया। इसके बाद मीणा ने मीडिया को सांप्रदायिक व जातिवादी बताया और फिर ट्रेंड किया “सांप्रदायिक और जातिवादी मीडिया”। इसी बीच उन्होंने सलमान, शाहरुख़ और आमिर से भी दान देने की अपील की और ये भी कई घंटे ट्विटर पर टॉप ट्रेंड किया। इसके साथ साथ मीणा के समर्थको द्वार हैशटैग “आई सपोर्ट हंसराज मीणा” लगातार ट्रेंड कर ही रहा है। संघ से पैसे दान के साथ साथ कुछ लोगो ने “संघी बेशर्म हो गए” हैशटैग भी चलाया जो अभी तक ट्रेंड में है।

यह भी पढ़ें: आदिवासी, दलित, पिछड़े और मुस्लिमों के सही कामों को छुपाता है मीडिया: हंसराज मीणा

मीणा ने कल सुबह योग गुरु बाबा रामदेव और राष्ट्रिय स्वयं सेवक संघ से भी दान देने की अपील की। इन अपीलों में हैशटैग्स थे “आरएसएस पैसा निकल” और “बाबा रामदेव पैसा दो।” इन हैशटैग्स तो बहुत तक ट्रेंड होते देख आरएसएस से जुड़े लोग गुस्से में आ गए और “हंसराज गा*** मरवा कर पैसा कमाओ”, “हंसराज एक बाप का नहीं” और “हंसराज मीणा हलाला की औलाद” जैसे हैशटैग्स आज सुबह से ही ट्रेंड कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: हंसराज मीणा ने ट्रेंड करवाया #ShameOnBCCI, BCCI ने दान किये 51 करोड़

हालांकि आपको बता दें बाबा रामदेव ने आज पीएम केयर फंड में 25 करोड़ की राशि दान की है। अब इसकी वजह हंसराज मीणा को मानें या न मानें लेकिन मीणा ने दबाव बनाने में कामयाबी हासिल की है।

हंसराज मीणा, जो एक अम्बेडकरवादी और दलित चिंतक हैं, समाज से जुड़े लगभग हर मुद्दे पर अपने समर्थको की मदद से हैशटैग्स ट्रेंड करवाते हैं। कई बार इन ट्रेंड्स का असर ज़मीन पर भी दिखा। शायद यही सोशल मीडिया की ताकत है। रहते हैं. उनका मानना है कि जिन बड़े उद्योगों ने देश की जनता से पैसा कमाया है, उन्हें कोरोना की महामारी से लड़ रहे देश के राहत कोष में दान करना चाहिए।