Better security for Panchayat representatives, development without disparity in J&K soon: LG Sinha

कौन हैं जम्मू-कश्मीर का नया उपराज्यपाल बनने वाले मनोज सिन्हा ?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पूर्व केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के नेता मनोज सिन्हा अब जम्मू और कश्मीर के नए उपराज्यपाल होंगे। बुधवार शाम को गिरीश चंद्र मुर्मू ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। अब गुरुवार सुबह राष्ट्रपति भवन की ओर से सिन्हा की नियुक्ति का ऐलान किया गया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गिरीश चंद्र मुर्मू का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।

कश्मीर के पत्रकारों के लिए पत्रकारिता जिंदगी और मौत का मामला है

5 अगस्त को ही जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटे एक साल पूरा हुआ है,  इसी बीच बुधवार शाम को अचानक जीसी मुर्मू के इस्तीफे दे दिया है। कहा जा रहा है कि मुर्मू नए नियंत्रक एवं महालेखाकार (कैग) बनाए जा सकते हैं। वह राजीव महर्षि की जगह लेंगे, जो कैग से इसी हफ्ते सेवानिवृत्त होने जा रहे हैं।

कौन हैं मनोज सिन्हा ?

मनोज सिन्हा गाजीपुर जिले के मोहम्मदाबाद तहसील के मोहनपुरा गांव के रहने वाले हैं। मनोज सिन्हा गाजीपुर के पूर्व सांसद रह चुके हैं। वहीं, पूर्वांचल (पूर्वी उत्तर प्रदेश) में भाजपा के बड़े चेहरे भी हैं। मनोज सिन्हा पहली बार वर्ष 1996 में हुए लोक सभा चुनाव में निर्वाचित घोषित किए गए थे। इसके साथ ही वो  गाज़ीपुर का संसद में प्रतिनिधित्व कर चुके हैं।

राममंदिर भूमिपूजन: न्यूज़ रूम बने पूजा पंडाल तो न्यूज़ एंकर पुजारी

मनोज सिन्हा वाराणसी के बीएचयू आईआईटी से 1982 में सिविल स्ट्रीम में बीटेक और एमटेक किया। बीएचयू में पढ़ने के दौरान वह विद्यार्थी संघ के अध्यक्ष भी थे। 1989-96 में वह राष्ट्रीय परिषद के सदस्य रहे।

सिन्हा की गिनती मोदी के भरोसेमंद नेताओं में होती है

वर्ष 2014 के चुनाव में बाजी मारने के बाद मोदी सरकार में उन्हें रेल राज्यमंत्री के साथ ही संचार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। 2019 लोकसभा चुनाव में वह बसपा के सांसद अफज़ाल अंसारी से हार गए थे।

सिन्हा की गिनती प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भरोसेमंद नेताओं में होती है। ऐसे में अब एक बार फिर केंद्र सरकार की ओर से सिन्हा को बड़ी जिम्मेदारी दी गई है। इस बार उन्हें जम्मू-कश्मीर का नया उपराज्यपाल नियुक्त किया गया है।

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups