Home » White fungus symptoms and remedies: ब्लैक फंगस से ज्यादा खतरनाक है वाइट फंगस, क्या है इसके लक्षण और बचाव के उपाय

White fungus symptoms and remedies: ब्लैक फंगस से ज्यादा खतरनाक है वाइट फंगस, क्या है इसके लक्षण और बचाव के उपाय

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

White fungus symptoms and remedies: करोना महामारी के बीच ब्लैक फंगस के बाद अब वाइट फंगस ने दस्तक दे दी है आइए हम जानते हैं कि आखिर में ब्लैक फंगस से यह कैसे अलग है और खुद को कैसे बचाया जायें।

वाइट फंगस क्या है
विशेषज्ञ के अनुसार यह वाइट फंगस, ब्लैक फंगस संक्रमण से अधिक घातक है क्योंकि यह मनुष्य के मस्तिष्क और फेफड़ों को अपनी चपेट में लेकर प्रभावित करता है।

वाइट फंगस कैसे शरीर में करता है प्रवेश

इसे कैंडिडा भी कहते हैं कमजोर इम्यूनिटी वाले लोगों में होता है विशेष रूप से मधुमेह एचआईवी पेशेंट या स्ट्राइड का प्रयोग,
यह संक्रमण खून के माध्यम से शरीर के हर अंग को प्रभावित करता है यह फंगस हवा में होता है जो सांस के जरिए नाक में जाता है इसके अलावा शरीर के कटे हुए अंग के संपर्क में अगर यह फंगस आता है तो यह संक्रमण हो जाता है ।
एम्स के डॉक्टर प्रो कौशल वर्मा के अनुसार वाइट फंगस की शुरुआत,जीभ, प्राइवेट पार्ट की जगह से होती है जिसके कारण जीभ के ऊपर वाइट सा हो जाता है इसके बाद यह लंग्स,दिमाग फूड पाइप के साथ दूसरे अंग तक प्रवेश करता है।

महिलाओं में लिकोरिया के रूप में
इनके अलावा वाइट फंगस का खतरा महिलाओं को ज्यादा होता है और यह उन में लिकोरिया यानी जननांग से सफेद स्राव के रूप में दिखता है ,कैंसर के मरीजों को भी इस संक्रमण का ज्यादा डर होता है

READ:  How can eating beets daily be good and healthy for you?

जांच –
आरटी पीसीआर करवाना चाहिए कोरोनावायरस से लक्षण दिखने पर और नतीजा अगर नेगेटिव आता है तो विशेषज्ञ एचआरसीटी करवाने की सलाह देते हैं इसमें लंग्स में गोले की तरह दिखते हैं जो कि कोरोना से अलग है तब मरीज का बलगम कल्चर की जांच कराई जाती है जिसमें इसकी पुष्टि होती है ,और चेस्ट x-ray ,सीटी स्कैन ,ब्लड सैंपल आदि की भी जांच करते हैं

वाइट और ब्लैक फंगस के लक्षणों में अंतर

ब्लैक फंगस के लक्षण लाल आंख नाक से खून आना, नाक की हड्डी में दर्द ,धुंधला दिखना,त्वचा पर निशान
वाइट फंगस के लक्षण –
खांसी में खून के थक्के आना, बुखार, दस्त ,फेफड़ों पर काले धब्बे और ऑक्सीजन लेवल का कम होना।

इलाज व बचाव
* वाइट फंगस के इलाज के लिए डॉक्टर एंटीफंगल मेडिसिन इस्तेमाल करते हैं आमतौर पर एस्पेरगिलस के इलाज के लिए एंफोटरइसिन बी, वेरी कोना जोल का इस्तेमाल किया जाता है।
* धूल मिट्टी या गंदगी वाली जगह पर ना जाएं।
* मास्क का प्रयोग करें।
* इम्यूनसिस्टम को मजबूत करने वाले खाद्य पदार्थ खाएं
* योगा एक्सरसाइज करें।
* कोरोना के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले एस्टेरॉइड का अधिक इस्तेमाल ना करें।

READ:  Black Fungus मामले तेजी से क्यों बढ़ रहे हैं?

Ground Report के साथ फेसबुक, ट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.