Covid-19 Mask: कौनसा मास्क बचाएगा कोरोना की दूसरी लहर से?

Covid-19 Mask Which one is better
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Covid-19 Mask: कोरोना की दूसरी लहर (Second Wave) का प्रकोप भारत में बढ़ता जा रहा है। पहली लहर के बाद लोगों ने मास्क लगाना ही बंद कर दिया था। मास्क ही कोरोना से बचाने में सबसे कारगर है। ऐसे में कौनसा (Covid-19 Mask) मास्क पहनना है। और कैसे पहनना है इस। इस पर थोड़ी चर्चा करते हैं।

चीफ कैंसर सर्जन डॉ. अंशुमान कुमार (धर्मशिला नारायणा सुपर स्पेशलिटी, न्यू दिल्ली) ने बताया की इन दिनों 3 प्रकार के मास्क मार्केट उपलब्ध हैं जोकि कपड़े का मास्क (Cloth Mask) , सर्जिकल मास्क (Surgical Mask) और N-95 मास्क है। अब आइये जानते है कि हर मास्क के कितने फायदे है और उनकी क्या लिमिट है। 

कपड़े का मास्क (Cloth Covid-19 Mask)

  • कपड़े के मास्क की बात करें तो यह कम असरदार होते हैं।
  • कपड़े के मास्क को अमेरिका के center of disease ने भी अप्रूवल दिया हुआ है
  • आप जब भी कपड़े के मास्क ले तो उसमें कम-से-कम दो परत होनी चाहिए। अगर यही कपड़े के मास्क तीन परत वाले हो तो और भी बेहतर है।
  • आप जब भी मास्क ले तो उसे अच्छे से चेक करें। मास्क चेहरे पर अच्छे से फिट हो। आपका मास्क आपके नाक और ठोड़ी के हिस्से को ठीक से कवर करें। 
  • कपड़े के मास्क और N-95 मास्क की तुलना की जाए तो कपड़े का मास्क 50 फीसदी तक कम प्रभावी होता है। N- 95 मास्क की तुलना में।
  • कपड़े का मास्क आप कम भीड़ वाली जगह पर उपयोग कर सकते हैं। 
  • आप कपड़े के मास्क को अच्छी तरह साबुन से धोकर और धूप में सुखाकर दोबारा यूज कर सकते हैं।  
READ:  Lockdown Diary: लॉकडाउन डायरी- डरें या डटें!

सर्जिकल मास्क (Surgical Covid-19 Mask)

  • सर्जिकल मास्क का इस्तेमाल सिंगल यूज के लिए किया जाता है। 
  • इसमें जब हम सांस लेते और छोड़ते हैं तो इसकी लेयर आपस में एक-दूसरे से चिपक जाती है।
  • इसे एक बार इस्तेमाल करने के बाद दोबारा इस्तेमाल न करें। क्योंकि इसकी फिल्टरेशन कैपेसिटी कम यानी लगभग खत्म ही हो जाती है।
  • यह कपड़े के मास्क से ज्यादा बेहतर है।
  • ऐसी जगह जहां भीड़ – भाड़ ज्यादा हैं तो आप सर्जिकल मास्क के ऊपर कपड़े का मास्क लगाकर जाएं।

N-95 मास्क

  • N-95 मास्क की बात करे तो यह मास्क सबसे ज्यादा अच्छा है।
  • इसकी क्षमता इतनी होती है कि यह 0.3 के माइक्रोन को 95 फीसदी तक फिल्टर करने में सक्षम है। यानी कि यह 95% तक किटाणुओं से आपका बचाव करता है। 
  • आप कोशिश करे की रेस्पिरेटरी वॉल्व वाले मास्क को पब्लिक प्लेस में यूज न करें। यह आपके लिए सही नहीं होगा।
  • आपको बात दें कि N-95 मास्क भी एक सिंगल यूज मास्क ही है। आप इसे 8 घंटे से ज्यादा देर तक ना पहनें।
  • इस मास्क को 8 घंटे में बदलना आपके सेहत के लिए बेहतर रहता है। 
  • यह मास्क महंगा होने की वजह से हर 8 घंटे बाद में नया मास्क लेना मुमकिन नहीं हो पाता है। 
  • ऐसे में आप इस इस्तेमाल किए मास्क को एक ड्राई पेपर बैग में 72 घंटे के लिए रख दें। इसके बाद आप इस मास्क को दोबारा से इस्तेमाल कर सकते हैं। 
  • ऐसा माना जाता है कि वायरस 72 घंटे में  बेअसर हो जाते हैं। 
  • यदि आपको बहुत ही इमरजेंसी है तो आप N -95 मास्क को 5 बार तक इस्तेमाल कर सकते हैं।
READ:  Vaccination in Periods: क्या पीरियड्स में कोरोना वैक्सीनेशन असुरक्षित है?

डबल मास्क

कोरोना की दूसरी लहर से बचने के लिए विशेषज्ञ डबल मास्क पहनने की सलाह दे रहे हैं। ऐसे में आप सर्जिकल मास्क के ऊपर कपड़े का मास्क लगा सकते हैं। हमेशा सर्जिकल मास्क को अंदर की तरफ और कपड़े के मास्क को ऊपर रखें। एन 95 मास्क के साथ दो मास्क पहनने की ज़रुरत नहीं है। लेकिन कपड़े के मास्क के साथ सर्जिकल मास्क लगाने से ज़्यादा सुरक्षित आप रहेंगे। इस बात का ध्यान रखें की आप को सांस लेने में कोई दिक्कत न हो।

ध्यान रखने योग्य बातें

  • आप किसी भी मास्क को लगाने से पहले और उतारने से पहले हाथों को अच्छी तरह धोएं या सैनिटाइज करें।
  • मास्क के अंदर की लेयर को कभी भी हाथ न लगाएं।
  • किसी भी मास्क को इस्तेमाल करने के बाद उसे आप सही तरीके से डिस्पोज करें। 
READ:  भयावह: महाराष्ट्र के अहमदनगर में जली एक साथ कई चिताएं

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.