Whatsapp की बैंड बजा रहा है Signal App आपने किया क्या डाउनलोड?

whatsapp Vs signal
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

जैसे ही वॉट्सएप ने अपनी प्राईवेसी पॉलिसी अपडेट करने की घोषणा की लोगों ने वॉट्सएप अन इंस्टॉल करने का मन बना लिया है। साथ ही अब ऐसे मैसैजिंग एप की तलाश की जा रही है जहां यूज़र की प्राईवेसी का खास खयाल रखा जाता हो। सिगनल एप (Signal App) तेज़ी से वॉट्सएप के विकल्प के तौर पर उभर रहा है।

दरअसल वॉट्सएप की नई प्राईवेसी पॉलिसी के अनुसार लोगों का यूज़र डेटा अब फेसबुक द्वारा इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए यूज़र को वॉट्सएप द्वारा एक नोटिफिकेशन भेजा गया है। जिसमें उनसे नई प्राईवेसी पॉलिसी एक्सेप्ट करने को कहा गया है। ऐसा नहीं करने वाले लोग भविष्य में वॉट्सएप का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे।

वॉट्सएप द्वारा थोपी जा रही यह पॉलिसी यूज़र्स को रास नहीं आ रही है। सोशल मीडिया पर तभी से प्राईवेसी को लेकर भी बहस छिड़ गई है। कई लोग वॉट्सएप की जगह सिग्नल (Signal App) और टीलीग्राम जैसे एप इस्तेमाल करने की सलाह दे रहे हैं।

READ:  प्रशासन की तानाशाही और छात्रों का डीपी विरोध, कब खुलेगा IIMC?

डेटा प्राईवेसी को लेकर छिड़ी बहस के बाद सिग्नल एप को सबसे सुरक्षित मैसेजिंग एप माना जा रहा है। आईये जानते हैं इस ऐप के बारे में-

ALSO READ: देखें WhatsApp और FB Messenger आपका कौन-कौन सा डेटा देख सकते हैं

Signal App में क्या है खास?

  • सिग्नल एप 2014 में आया था इसकी टैगलाईन कहती है से ‘हेलो टू प्राईवेसी’ यानी इस ऐप का उद्देश्य ही लोगों की प्राईवेसी का खयाल रखना है।
  • इसकी मैसेजिंग सर्विस भी वॉट्सएप की ही तरह एंड-टू-एंड इनक्रिप्टेड है।
  • यह आईफोन, आईपैड, विंडोज़, मैक, लाईनक्स, एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए उपलब्ध है।
  • यह एप सिग्नल फाउंडेशन द्वारा स्थापित किया गया है, इसके संस्थापक ब्रायन एक्टन वॉट्सएप के संस्थापक सदस्य़ रहे हैं उन्होंने प्राईवेसी की चिंता की वजह से ही वॉट्सएप छोड़ दिया था और सिग्नल जैसा एप बनाया जहां यूज़र की प्राईवेसी ही सबसे महत्तवपूर्ण समझी जाती है।
READ:  मध्यप्रदेश के बड़नगर के विधायक के बेटे पर लगा रेप का आरोप,हुई FIR
  • सिग्नल (Signal App) भी वॉट्सएप की ही तरह फ्री मैसेजिंग एप है और इसके फीचर्स भी वॉट्सएप जैसे ही हैं। हालांकि इसमें आप अपनी चैट का बैकअप नहीं बना सकते।
  • इसमें किसी भी व्यक्ति को बिना उसकी इजाज़त लिए ग्रुप में एड नहीं किया जा सकता।
  • सिग्नल एप अमेरिका के साथ-साथ भारत में भी रातों रात पॉप्यूलर हो गया है। इसकी पुष्टी खुद सिग्नल ने ट्वीट कर दी है।
  • दुनिया के सबसे अमीर शख्स इलॉन मस्क ने भी सिग्नल एप इस्तेमाल करने की सलाह दी है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

READ:  IFFCO ने लिया अहम फैसला, किसानों को दी बड़ी राहत