Home » HOME » Whatsapp नहीं रहेगा फ्री अब चुकाने होंगे पैसे, कंपनी ने की घोषणा

Whatsapp नहीं रहेगा फ्री अब चुकाने होंगे पैसे, कंपनी ने की घोषणा

whatsapp business app to charge customers
Sharing is Important

Whatsapp अब हर किसी के मोबाईल में मैसेजिंग का सबसे ज़्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला ऐप बन चुका है। अगर आपके पास स्मार्टफोन है तो सबसे पहले आप वॉट्सएप उसमें इंस्टॉल करते हैं। आम लोगों के इस्तेमाल में आने वाला यह एप अब व्यापार में भी बड़े काम की चीज़ बनता जा रहा है। अब हर ऑनलाईन बिज़नेस अपने कस्टमर्स को वॉट्सएप के ज़रिए जोड़ने की कोशिश में लगा हुआ है। इसके लिए वॉट्सएप का बिज़नेस एप इंस्टॉल करना होता है।

बिज़नेस एप की बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए अब कंपनी ने इसमें दी जाने वाली कुछ सर्विसेस को पेड करने का फैसला लिया है। जी हां अब वॉट्सएप बिज़नेस एप पूरी तरह फ्री नहीं रहेगा। इसे इस्तेमाल करने वालों को इसके लिए भुगतान करना होगा। नॉर्मल वॉटस्एप मेसेंजर की सेवाएं फ्री में ही जारी रहेंगी। कंपनी के आधिकारिक ब्लॉग पोस्ट में जानकारी दी गई है कि व्हाट्सएप के सभी यूजर्स को नहीं बल्कि Whatsapp Business यूजर्स को इस्तेमाल के लिए पैसे दे ने पड़ेंगे।

READ:  More suicides among businessmen than farmers: NCRB data

जो लोग Whatsapp Business इस्तेमाल करते हैं तो उन्हें जल्द ही इसकी कुछ सर्विसेज के लिए पेमेंट देनी पड़ सकती है। Whatsapp Business ने pay-to-message ऑपशन की घोषणा की है। कंपनी ने अपने ब्लॉग में लिखा है, ‘हम अपने बिजनस उपभोक्ताओं को कुछ सेवाओं के लिए चार्ज करेंगे।’ कंपनी ने अभी ये साफ नहीं किया है कि किस तरह की सर्विस के कितने पैसे लिए जाएंगें।

क्या है Whatsapp बिज़नेस एप?

वॉट्सएप का बिज़नेस एप कारोबारियों की ज़रुरत को देखकर बनाया गया है। इसके ज़रिए व्यापारी अपने कस्टमर्स का नेटवर्क तैयार कर सकते हैं। इसके ज़रिए वो लोगों को मैसेज कर सकते हैं अपनी सेवाओं के बारे में प्रमोशनल मेसेज भेज सकते हैं। साथ ही ऑर्डर भी ले सकते हैं। व्हाट्सएप बिजनस यूजर्स से पेमेंट चार्ज करके ऐप अपना व्यापार भी तैयार कर रहा है। लेकिन कंपनी फ्री एंड-टू-एंड एनक्रिप्टेड टेक्स्ट, विडियो और वॉइस कॉलिंग की सुविधा अपने यूजर्स को देती रहेगी। कंपनी ने गुरुवार को इसका API और सॉफ्टवेयर इंटरफेस यूज करने वाले बिजनसेज को एक अपडेट दिया है। आपको बता दें कि कंपनी ने नॉर्मल व्हाट्सएप यूजर्स के लिए इस तरह के पेमेंट से जुड़ा हुआ कोई बदलाव नहीं होगा। लेकिन संभावना है कि जल्द ही ऐप में एड्स देखने को मिल सकते हैं।

READ:  1678 migrants returned to Kashmir after the abrogation of Article 370

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।