What is MSP

MSP का झुनझुना और डीज़ल की आड़ में बड़ा धोखा !

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

What is MSP : सिर्फ एक साल में हरियाणा पंजाब के किसानों ने डीजल के दाम में करीब 450 करोड़ रुपये ज्यादा चुकाए. पढ़िए कैसे-एक एकड़ में गेंहू की फसल लगाने पर डीजल की खपत = 30.66 लीटर खपत (करीब 31 लीटर )

ब्यौरा इस तरह है-

पराली काटने में 3 लीटर + खेत तैयार करने में 8 लीटर +बुआई में 8 लीटर + कंबाइन मशीन से कटाई में 10 लीटर + फसल को ट्रॉली से मंडी ले जाने में औसतन प्रति एकड़ 1.66 लीटर .30.66 लीटर / एकड़

अब जरा नीचे के आंकड़े पर गौर कीजिए-

हरियाणा और पंजाब में साल 2019 में 60 लाख 67 हजार हेक्टेयर जमीन पर गेंहू लगाई (सरकारी आंकड़ा)1 हेक्टेयर = 2.47105 एकड़ मतलब करीब 1 करोड़ 49 लाख 91 हजार 883 एकड़ जमीन1 एकड़ पर = 31 लीटर डीजल की खपत.इस हिसाब से 14991883.49 एकड़ पर कुल 46 करोड़ 47 लाख 48 हजार 388.19 लीटर डीजल.

अब कुल डीजल की कीमत का हिसाब देखिए-

नवंबर 2020 में 1 लीटर की कीमत 75 रुपये 464748388.19 लीटर डीजल x 75 रुपये = 34856129114.3 रुपये ( करीब 3500 करोड़)नवंबर 2019 में 1 लीटर की कीमत 65 रुपये थी = 30208645232.3 रुपये ( करीब 3000 करोड़ रुपये)सिर्फ डीजल के दाम बढ़ने से किसानों पर बोझ पड़ा = 4647483881.95 रुपये ( करीब 465 करोड़ रुपये का)मतलब एक साल में ही सरकार ने किसानों पर करीब 465 करोड़ रुपये का बोझ डाल दिया और धोखा देखिए.

READ:  Karwa Chauth 2020: करवा चौथ पर आखिर चांद देखकर ही क्यों होता है पति का दीदार?

साल 2021 के लिए सरकार ने MSP में 50 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ाकर 1975 कर दिया यानि किसानों को करीब 1100 करोड़ रुपये ज्यादा मिलेंगे (2019 में 222300000 क्विंटल गेंहू सरकार ने हरियाणा पंजाब के किसानों से MSP पर खरीदी है 222300000 x 1925 (साल 2020 में MSP पर खरीदी)= 427927500000 रुपये की खरीदी 222300000 x 1975 (साल 2021 में MSP पर खरीदते हैं तब) = 439042500000 रुपये की खरीदेंगे439042500000 रुपये – 427927500000 रुपये = 11115000000 रुपये( करीब 1100 करोड़ रुपये किसानों को साल 2021 में गेंहू बेचने पर ज्यादा मिलेंगे इस साल की तुलना में

MSP के नाम पर गेंहू के किसानों को ज्यादा पैसे सरकार देगी = ( करीब 1100 करोड़) दूसरी तरफ उतने ही समय में डीजल के दाम बढ़ने पर = 465 करोड़ रुपये किसानों से वापिस ले लिए अब बताइये कान एक हाथ से पकड़ो या दूसरे हाथ से बात तो एक ही है। MSP का इतना ढिंढोरा भी पिट दिया, गुपचुप गुपचुप- डीजल के दाम तो हमारे हाथ में नहीं है के नाम पर करीब 465 करोड़ रुपये वापिस भी ले लिए.

READ:  MP : बेरोज़गारी और कोरोना से निपटने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज ने ख़रीदा 60 करोड़ का विमान

इसका मतलब – पहली बात –

MSP जो आपने 50 रुपये बढ़ाया उसकी एवज में करीब 25 रुपये तो सीधा डीजल के दाम बढ़ाकर वापिस ही ले लिए. दूसरी खाद के रेट, खेती में इस्तेमाल होने वाले औजारों की टूट फूट, लेबर कोस्ट, पानी बिजली के दामों में बढ़ोतरी का अंदाजा लगाया जाए तो मोदी सरकार के MSP पर बढ़ाए 50 रुपये बहुत दूर छूट जाते हैं। तीसरी बात ये निकलती है कि भले आप 2021 में किसानों को 1975 रुपये दे दें MSP के लेकिन किसानों की आय में पिछले साल के मुकाबले नुकसान ही होगा। चौथी बात किसान खेती में डीजल पर सब्सिडी की मांग कर रहा है जो इस प्रदर्शन में भी किसानों ने सरकार के सामने रखी है। अगर किसानों को आधे रेट पर डीजल दिया जाए तो सिर्फ हरियाणा पंजाब के किसानों को करीब 1742 करोड़ से ज्यादा की मदद मिलेगी। ऐसा करने पर प्रति एकड़ किसानों को 1162 रुपये की बचत होगी। ये पैसा प्रति एकड़ अगर किसान को मिल जाए तो किस पागल कुत्ते ने काटा कि वो खेत में पराली जलाएगा।

READ:  कृषि संशोधन बिल के विरोध में पंजाब का किसान इतना एकजुट क्यों ?

Mainpuri: Sister Married a Dalit, Brothers Killed And Burried her Body

प्रति एकड़ अगर 1162 रुपये किसान बाहर फैक्ट्री वाले को दे तो वे खुद आकर पराली के गठड बनाकर ले जाते हैं जिसे जलाने के, गद्दे बनाने के काम में इस्तेमाल करते हैं। अगर सरकार को किसानों पर भरोसा ना हो तो ये काम खुद किसी से करवा सकती है। पांचवी बात- किसानों का कहना है गेंहू लगाने का 20 दिन का सीजन होता है इस सीजन में डीजल के दाम बढ़ने तय हैं. अब बताओ किसान किसकी मां को मौसी कहें। क्या आपको लगता है किसानों को फसल उगाने के लिए सस्ता डीजल चाहिए..कमेंट बॉक्स में बताते चलिए ।

ये लेख पत्रकार अभिनव गोयल की वॉल से लिया गया…

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें [email protected] पर मेल कर सकते हैं।

1 thought on “MSP का झुनझुना और डीज़ल की आड़ में बड़ा धोखा !”

  1. To mtlb ye h ki sirf kisan ki fasal Ka rate badhe baki sab fix kar de. Kya logic h are bhondu lal kya Likha h khud ki samajh m b Aaya ki ni

Comments are closed.