अगर पाकिस्तान भारतीय जवान के साथ दुर्व्यवहार करेगा तो यह जेनेवा संधि का उल्लंघन होगा, जानिए क्या है यह संधि?

न्यूज़ डेस्क।। भारतीय विदेश मंत्रालय द्वारा बयान जारी कर यह पुष्टि की है कि एक भारतीय जवान लापता है। भारत ने पाकिस्तान को तलब कर दो टूक कहा है कि भारतीय जवान के साथ दुर्व्यवहार नहीं होना चाहिए।

अगर भारतीय जवान के साथ दुर्व्यवहार होता है तो यह जेनेवा संधि का उल्लंघन होगा। हम आपको बता दें आखिर इस संधि में क्या प्रावधान हैं।

जेनेवा संधि में युद्धबंदियों के अधिकारों को बरकरार रखने के कई नियम दिए गए हैं। जिसका मकसद युद्ध के वक्त मानवीय मूल्यों को बनाए रखने के लिए कानून तैयार करना है।

इंटरनेशनल कमीटी ऑफ रेड क्रॉस के मुताबिक जेनेवा समझौते में युद्ध के दौरान गिरफ्तार सैनिकों और घायल लोगों के साथ कैसा बर्ताव करना है इसको लेकर दिशा निर्देश दिए गए हैं।

Also Read:  Why are attacks on the Sikh community on surge in Pakistan?

1. इस संधि के तहत घायल सैनिक की उचित देखरेख की जाती है

2.संधि के तहत उन्हें खाना पीना और जरूरत की सभी चीजें दी जाती है

3. इस संधि के मुताबिक किसी भी युद्धबंदी के साथ अमानवीय बर्ताव नहीं किया जा सकता

4. किसी देश का सैनिक जैसे ही पकड़ा जाता है उस पर ये संधि लागू होती है।

5.संधि के मुताबिक युद्धबंदी को डराया-धमकाया नहीं जा सकता

6.युद्धबंदी की जाति, धर्म, जन्‍म आदि बातों के बारे में नहीं पूछा जाता

पाकिस्तान द्वारा जो वीडियो अभी जारी किया गया है उसमें भारतीय सैनिक के हालात ठीक दिखाई दे रहे हैं। हालांकि कुछ खरोंचे ज़रूर दिखाई दे रही हैं।