क्या है प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, जानिए कैसे करें आवेदन ?

क्या है प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, जानिए कैसे करें आवेदन ?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

देश में ग्रामीण और शहरों इलाकों में करोड़ो लोग सड़को के किनारे स्‍ट्रीट वेंडर जो फल, सब्जियाँ बेचते लगाकर अपना रोज़गार चलाते हैं। लॉकडाउन  के चलते इन्हें काफी ज्यादा समस्या को सामना करना पड़ा। इसलिए भारत सरकार ने 1 जून 2020 को  केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना को शुरू करने का फैसला लिया। इस योजना के तहत देश के रेहड़ी और पटरी वालों को अपना काम नए सिरे से शुरू करने के लिए लोन मुहैया कराया जायेगा। इस योजना का उद्देश्य छोटे सड़क विक्रेताओं के रोज़गार को फिर से खड़ा करना है।

इस योजना के माध्यम से सड़को के किनारे  स्‍ट्रीट वेंडर जो फल, सब्जियाँ बेचते हैं या छोटी-मोटी दुकान लगाते हैं वे 10000 रूपये का लोन प्राप्त कर सकते है। योजना के तहत रेहड़ी, पटरी लगाने वाले छोटे कारोबारी को कर्ज साझा सेवा केन्द्रों (सीएससी) केन्द्रों के माध्यम से दिया जायेगा। इस ऋण का भुगतान रेहड़ी पटरी वालों को एक साल के भीतर किस्तों में लौटना होगा। समय पर चुकाने वाले स्ट्रीट वेंडर्स को अतिरिक्त लाभ दिया जाएगा। उन्हें सात फीसद का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर प्रदान किया जाएगा। जिसे संबंधित व्यक्ति के अकाउंट में सरकार की ओर से ट्रांसफर किया जाएगा।

Independence Day 2020 : पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें

इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें इस प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत आवेदन करना होगा। इस योजना का लाभ 24 मार्च, 2020 तक या उससे पहले शहरी क्षेत्रों में वेंडिंग में लगे सभी स्ट्रीट वेंडर्स के लिए है। जिनके पास वेंडिंग पहचान पत्र और स्थानीय निकाय में विक्रेता जो सर्वेक्षण में हो। ऐसे विक्रेता जिनको आईटी आधारित प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से प्रोविजनल सर्टिफ़िकेट ऑफ़ वेंडिंग जेनरेट किया जाएगा वे भी इसका लाभ ले सकते हैं। इस योजना के तहत 50 लाख से अधिक लोगों को योजना से लाभ प्रदान किया जायेगा।

सबसे पहले आवेदक को स्‍कीम की आधिकारिक वेबसाइट http://pmsvanidhi.mohua.gov.in/ पर जाना होगा. इसके बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर होम पेज खुल जाएगा.

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।