कोविड-19 वैक्सीनेशन

कोविड-19 वैक्सीनेशन के बाद भी संक्रम‍ित होने पर क्या होता है?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोनोवायरस के वैक्सीनेशन की शुरुआत उन सभी के ल‍िए एक खुशखबरी है जो लंबे वक्त से एक नॉर्मल ज‍िंदगी जीने की राह देख रहे थे। लेक‍िन कोव‍िड वैक्सीनेशन के बाद भी कुछ ऐसे मामले सामने आए हैं जिनमें वैक्सीन लेने के बाद फिर कोरोना के लक्षण उभरकर सामने आए हैं।यह उन लोगों के लिए एक ऐसे धक्के की तरह है, जो वायरस से बचने के लिए टीकों के काम पर यकीन की उम्मीदें कर बैठे थे।

हालांकि, एक्सपर्ट इस लेकर फ‍िक्र नहीं जता रहे हैं और न ही इसका मतलब है कि कोव‍िड वैक्सीन पूरी तरह से बेअसर है। लेक‍िन कम ही सही, लेक‍िन मुमकिन है कि वैक्सीनेशन के बाद भी कोई भी वायरस आसानी से ट्रांसम‍िट हो सकता है। इसके पीछे कई कारण हैं, ज‍िनमें से कुछ कारण हम आपको बतलाने जा रहे हैं।

READ:  खाप पंचायतें: 400 लोगों के सामने महिला को नंगा करने वाला समाज

दरअसल वैक्सीन तुरंत काम नहीं करते हैं। असल में सभी को यह याद द‍िलाते रहना चाह‍िए कि वैक्सीनेशन के बाद भी एहतियाती कदम को उठाने की जरूरत क्यों है। वैक्सीन बीमारी पैदा करने वाले वायरस के खिलाफ काम करते हुए बॉडी की इम्यून‍िटी को बढ़ाने का काम करते हैं, लेकि‍न इसमें कुछ हफ्तों का वक्त लग सकता है। इस कुछ हफ्तों के दौरान अगर आप सावधान नहीं हैं तो आपके संक्रमण की चपेट में आने के चांस होते हैं।

कोव‍िड वैक्सीनेशन के बाद भी आप कभी भी संक्रम‍ित हो सकते हैं। संक्रामक वायरस की चपेट में आते ही शरीर में एंटीबॉडी व‍िकस‍ित होना शुरू हो जाते हैं। लेकिन यह किसी को फिर से बीमार होने से बचाने के लिए पर्याप्त नहीं है। जैसा कि बहुत सारे लोग वायरस से एक से ज्यादा बार संक्रम‍ित हो चुके हैं। इसलिए, हम सभी को ये मालूम होना चाह‍िए क‍ि हमारी सेहत के लिए खतरा पैदा करने वाले वायरस अभी भी मौजूद हैं। साथ ही मास्क और सोशल ड‍िस्टेस‍िंग अभी भी बीमार होने से बचने का सबसे अच्छा तरीका है।

READ:  ये इंडिया की पुलिस है, हेल्मेट न लगाने पर माथे में बाइक की चाबी ठोक देती है

मोदी सरकार के 5 बड़े घोटाले, जिनके सबूत मिटाने पर जुटी है सरकार

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

%d bloggers like this: