Home » West Bengal Violence: Mithun Chakraborty ने क्या कहा?

West Bengal Violence: Mithun Chakraborty ने क्या कहा?

West Bengal Violence Mithun Chakraborty मिथुन चक्रवर्ती पश्चिम बंगाल चुनाव के नतीजों और वहां फैली हिंसा के बाद से कहां गायब है।
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

West Bengal Violence: Mithun Chakraborty: पश्चिम बंगाल में चुनाव के नतीजों के बाद से हो रही हिंसा (West Bengal Violence Mithun Chakraborty) पर फिल्म अभिनेता और बीजेपी नेता मिथुन चक्रवर्ती (West Bengal Violence Mithun Chakraborty)ने अपना रिएक्शन दिया है। मिथुन चक्रवर्ती ने कहा कि, पश्चिम बंगाल में हो रही हिंसा को रोकिए। लोगो की जान की परवाह कीजिए। उनके घर परिवारों के बारे में सोचें। राजनीति से ज्यादा जरूरी है लोगों की जान। बता दें कि कोलकाता के जाने माने ब्रिगेड परेड ग्राउंड में 7 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रैली की थी। इस रैली में फिल्म अभिनेता और भाजपा के नेता मिथुन चक्रवर्ती ने पीएम मोदी के आने से पहले वहा जनसैलाब के बीच खुद को संबोधित करते हुए बांग्ला में कहा था – “आमी एकटा कोबरा…” । उन्होंने कहा था मैं असली कोबरा हूं डसूंगा तो फोटो बन जाओगे। वहीं इसी रैली में पीएम मोदी ने मिथुन चक्रवर्ती के टीएमसी छोड़ कर बीजेपी में शामिल होने की बात कही थी।

मिथुन चक्रवर्ती फिल्मी दुनिया का एक जाना माना चेहरा है। वे लोगों के दिलों में राज करते हैं। पहले मिथुन चक्रवर्ती टीएमसी से राज्यसभा सांसद थे। उन्होंने टीएमसी छोड़कर भाजपा का दामन थामा। इस चुनाव भाजपा के लिए स्टार प्रचारक के तौर पर रैली को संबोधित कर रहे थे। हिंसा के दौरान मिथुन चक्रवर्ती ने बीती 4 मईको एक ट्विट कर कहा कि, चुनाव के नतीजों के बाद से बंगाल में हिंसा हो रही है। इस हिंसा को रोकिए। राजनीति से ज्यादा जरूरी है लोग और लोगों की जान। लोगों के घर परिवार के बारे में सोचें और इस हिंसा को बंद करें।

READ:  West Bengal: Bodies found in river Ganga raised concern

West Bengal Violence: पश्चिम बंगाल हिंसा में अब तक क्या-क्या हुआ?

बंगाल चुनाव को ले कर बड़ी बड़ी बातें बोलने वाले हुए ढेर
बंगाल चुनाव को लेकर मिथुन चक्रवर्ती को बड़ी बड़ी बातें करके लोगों के दिलों में भाजपा के लिए जीत का रास्ता साफ करते देखा जा रहा था। उन्होंने कहा था की मैं यहा कोई राजनीति खेलने नही बल्कि लोगों की सेवा करने आया हूं। “आमी एकटा कोबरा…” । सीधी बात में जब मिथुन से बात की गई थी तो उन्होंने कहा था मैं साफ दिल का आदमी हूं जो मेरे दिल में आता है, वो बोल देता हूं। पर अब बंगाल में बीजेपी की हार के बाद मिथुन चक्रवर्ती ने छुपी साध ली है। बड़े बड़े वादे करने वाले मिथुन चक्रवर्ती को अब समझ जाना चाहिए की बड़ी बड़ी बातें और चर्चित चेहरा होने से नही बल्कि लोगों के लिए काम करने से जीत मिलती है।

बंगाल की बेटी ममता के सामने नही चला बंगाल के बेटे मिथुन का जादू
भाजपा के बंगाल में ममता दीदी जो की बंगाल की बेटी मानी जाती है उनके खिलाफ बंगाल के बेटे के रूप में मिथुन चक्रवर्ती को लोगों के सामने लाने की कोशिश नाकाम हो गई। अब हार के बाद मिथुन चक्रवर्ती लोगों के सामने आने से कतरा रहे है। बंगाल में भाजपा की कई रैलियों मैथुन चक्रवर्ती दिखाई दिए थे, कई जनसभाएं भी की थी। वही उनकी रैलियो में लोगों का जनसैलाब देखने को मिलता था,लेकिन उसका फायदा उन्हें चुनाओ में नही हुआ। बीजेपी मिथुन चक्रवर्ती को चुनाव भी लड़वाना चाहती थी, ताकि बंगाल के बेटे को लोगों के सामने लाकर वो ये चुनाव जीत सके।

READ:  किशोरी बालिकाओं का भविष्य कुपोषण के कब्जे में

स्टारडम से नही कर सके लोगों को भाजपा की तरफ प्रभावित
71 साल के मिथुन चक्रवर्ती का जादू लोगों पर नही चल सका। जिस तरह उन्होंने डंके की चोट पर कहा था की मैं एक कोबरा हूं और तुम्हे डसूंगा तो फोटो बन जाओगे कहना भले ही लोगों को रास नहीं आया पर उनकी ये बात राजनीति जगत में एक छाप जरूर छोड़ गई। उन्हें समझ जाना चाहिए की लोगों का पेट बड़ी बातें करने से नही या चर्चित चेहरा होने से नही बल्कि उन वादों पर काम करने से जीत हासिल होती है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।