CAA NRC Protests, Prime Minister Narendra modi, Kanpur, Uttar Pradesh, NRC, PM Modi,

नागरिकता संशोधन कानून लाकर हमने कोई ग़लत काम नहीं किया : पीएम मोदी

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट । दिल्ली

शुक्रवार को एनडीए की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने नेताओं से कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) लाकर हमने कोई गलत काम नहीं किया इसलिए किसी भी एनडीए नेता को बचाव की मुद्रा में आने की ज़रुरत नहीं है। साथ ही उन्होंने नेताओं को नसीहत करते हुए कहा कि वह सीएए पर रक्षात्मक रवैया अपनाएं। साथ ही उन्होंने राजग नेताओं से अपील की वह संसद में नागरकिता कानून का समर्थन करें। क्योंकि इससे किसी की नागरिकता नहीं छिन रही बल्कि नागरिकता देने के लिए यह कानून लाया गया है।

ALSO READ: CAA-NRC Protest : हिंसा फैलाते धराये BJP के 6 कार्यकर्ता

ALSO READ: माइक्रोसॉफ्ट के CEO सत्या नडेला ने CAA-NRC को बुरा और दुखद बताया

CAA लाकर हमने कोई गलत काम नहीं किया !

इससे पहले बैठक के दौरान जनता दल यूनाइटेड (जदयू) ने सरकार से राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) की प्रश्नावली से माता-पिता की विस्तृत जानकारी मांगने वाले सवालों को हटाने का आग्रह किया। जेडीयू नेता ललन सिंह ने बताया कि उन्होंने राजग की बैठक में यह मुद्दा उठाया और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भरोसा दिया कि इस मामले पर चर्चा की जाएगी। ललन सिंह ने बताया कि शिरोमणि अकाली दल और भाजपा के अन्य सहयोगियों ने भी इस मुद्दे पर जदयू का समर्थन किया।

अल्पसंख्यक अन्य नागरिकों की तरह ही हमारे अपने हैं

पीएम मोदी ने कहा कि कुछ लोग सीएए के मुद्दे पर भड़काने का काम कर रहे हैं। मुसलमान भी इस देश के नागरिक हैं और उनका भी उतना ही अधिकार और कर्तव्य है जितना दूसरों का है। एनडीए की बैठक के बाद भाजपा के एक सहयोगी दल के एक नेता ने बताया कि प्रधानमंत्री ने संसद के बजट सत्र के दौरान आक्रामक रूप से सीएए पर विपक्ष के आरोपों का जवाब देने को कहा। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक अन्य नागरिकों की तरह ही हमारे ‘अपने’ हैं।

विपक्षी दल सीएए को भेदभावपूर्ण बताता रहा है

बता दें कि विपक्षी दल सीएए को भेदभावपूर्ण बताता रहा है। सहयोगी दल के नेता ने नाम नहीं उजागर करने की शर्त पर बताया कि उन्होंने (मोदी) कहा कि सरकार ने संशोधित नागरिकता कानून पर कुछ भी गलत नहीं किया है और उसे बचाव में आने की कोई जरूरत नहीं है। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के नेताओं ने त्रिपुरा में ब्रू जनजाति के सदस्यों के पुनर्वास एवं बोडो समझौते के लिए प्रधानमंत्री की सराहना की।

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।