कर्फ्यू के बावजूद असम में जारी है सड़कों पर हिंसात्मक प्रदर्शन

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट। न्यूज़ डेस्क

नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB 2019) मोदी सरकार के गले की फांस बनता नज़र आ रहा है। विधेयक के खिलाफ पूर्वोततर के कई राज्यों में लोग इस विधेयक के विरोध में हिंसात्मक प्रदर्शन कर हैं। असम, त्रिपुरा, मणिपुर, नगालैंड में इस विधेयक का भारी विरोध जारी है। गुवाहाटी में हजारों लोग कर्फ्यू का उल्लंघन करते हुए बृहस्पतिवार को सड़क पर उतर आए और कई स्थानों पर स्थिति को काबू में करने के लिए पुलिस को गोलियां भी चलानी पड़ी।

पूर्वोत्तर के राज्यों में तेज़ी से फ़ैल रही प्रदर्शन की आग, गुवाहाटी में लगा अनिश्चितकाल कर्फ्यू

हिंसा को देखते हुए असम के दस जिलों में इंटरनेट सेवाओं पर लगाई गई रोक की अवधि को बृहस्पतिवार की दोपहर 12 बजे से 48 घंटे के लिए और बढ़ा दिया गया है। यही नहीं पुलिस को गुवाहाटी-शिलॉन्ग रोड सहित अन्य इलाकों में भी गोलियां चलानी पड़ीं। ये क्षेत्र युद्ध क्षेत्र में तब्दील हो चुके हैं, क्योंकि प्रदर्शनकारियों ने दुकानों और इमारतों में तोड़फोड़ करने के साथ ही सड़कों पर टायर जलाए।

  • त्रिपुरा में अधिकतर स्कूल कॉलेज बंद हैं
  • गुवाहाटी में रणजी और आईएसएल मैच स्थगित
  • कर्फ्यू के कारण हवाई अड्डे पर फंसे लोग
  • गुवाहाटी में असम गण परिषद के मुख्यालय में तोड़-फोड़
  • विमानन कंपनियों ने रद्द की असम की उड़ानें
  • त्रिपुरा और असम आने-जाने वाली सभी यात्री ट्रेनें निलंबित: रेलवे


कामरूप जिले में कार्यालय, स्कूल और कॉलेज पूरी तरह से बंद रहे। यहां दुकानें बंद हैं और राष्ट्रीय राजमार्ग 31 सहित विभिन्न मार्गों पर सड़कों से गाड़ियां नदारद है क्योंकि इसे बंद किया जा रहा है।पुलिस ने बताया कि उन्हें रंगिया शहर में तीन गोलियां चलानी पड़ी क्योंकि प्रदर्शनकारियों ने उन पर पत्थर और जले हुए टायर फेंके। शहर के कई स्थानों पर प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज भी हुआ।

कर्फ्यू के कारण हवाई अड्डे पर फंसे लोग

असम में रहने वाले लोगों का कहना है कि इससे असम समझौता 1985 के प्रावधान निरस्त हो जाएंगे, जिसमें बिना धार्मिक भेदभाव के अवैध शरणार्थियों को वापस भेजे जाने की अंतिम तिथि 24 मार्च 1971 तय है। असम और त्रिपुरा में हो रहे हिंसक विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए रेलवे ने असम और त्रिपुरा आने-जाने वाली सभी यात्री ट्रेनों को निलंबित कर दिया और लंबी दूरी वाली ट्रेनों को गुवाहाटी में ही रोका जा रहा है।

महाराष्ट्र कैडर के सीनियर आईपीएस अधिकारी ने नागरिकता बिल के विरोध में दिया इस्तीफा

व्यापक विरोध प्रदर्शन के कारण विभिन्न विमानन कंपनियों ने राज्य के कई शहरों की उड़ानें बृहस्पतिवार को रद्द कर दी। उड़ानें रद्द करने वाली विमानन कंपनियों में इंडिगो, विस्तारा, एयर इंडिया, स्पाइसजेट और गोएयर शामिल हैं। इंडिगो के एक प्रवक्ता ने बयान में कहा कि असम में अस्थिरता की स्थिति को देखते हुए बृहस्पतिवार को गुवाहाटी तथा डिब्रूगढ़ की उड़ानें रद्द की गई हैं।

कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया

त्रिपुरा में कांग्रेस के 24 घंटे के बंद के आह्वान पर बृहस्पतिवार को स्कूल, कॉलेज और कार्यालय बंद रहे तथा सड़कों से वाहन नदारद रहे। अधिकारियों ने बताया कि बंद के कारण राज्य के कई इलाकों में दुकानें भी बंद हैं और कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया। प्रदर्शन का असर क्षेत्र में खेल आयोजनों पर भी पड़ा है और कर्फ्यू लगाए जाने की वजह से गुवाहाटी में रणजी ट्राफी मैच और इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) फुटबाल मैच भी रद्द कर दिया गया।