करौली : रैली में विशेष समुदाय के ख़िलाफ भड़काऊ नारेबज़ी के कारण भड़की हिंसा?

राजस्थान के करौली में दो समुदाए आमने-सामने आ गए। आगज़नी हई। पत्थरबाज़ी में दर्जनों लोग घायल हुए। कई दुकानों में को आग के हवाले कर दिया गया। एक व्यक्ति गंभीर रूप से घयाल हुआ। इलाके में महौल तनावपूर्ण बना हुआ। इंटरनेट की सेवाएं बाधित कर दी गई हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शनिवार 2 अप्रैल को चैत्र नवरात्रि का पहला दिन था। इस दिन हिंदू समुदाय के लोग नया साल या नव संवत्सर मनाते हैं। इस मौके पर करौली में हिंदू समुदाय के कुछ युवक बाइक रैली निकाल रहे थे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, नवरात्र के पहले दिन हिंदू नव वर्ष के मौके पर पर करौली में एक बाइक रैली निकाली जा रही थी। रैली जैसे ही एक मुस्लिम बस्ती में पहुंचती है। लोग एक विशेष समुदाए के खिलाफ भड़काऊ नारे लगाना शुरू कर देते हैं। जिसके तुरंत बाद महौल खराब होता है और पत्थरबाज़ी शुरू हो जाती है।  

आख़िर ऐसा क्या हुआ जिससे करौली में हिंसा भड़क गई ?

ट्विटर पर एक यूज़र ने एक वीडियो डालते हुए लिखा है- मुस्लिम मोहल्ले में जाकर रमज़ान के महीने में मस्जिद के आगे यदि यह गाना “टोपी वाला सर झुकाके जय श्री राम बोलेगा” बजेगा और भड़काऊ नारे लगेंगे तो जनता फूलों से स्वागत नहीं करेगी..!  दंगे के बीज बोने वाले इन लफ़ंगों और मूर्खों पर कार्यवाही होनी चाहिए..!

जानकारी के मुताबिक पथराव में करीब चार पुलिसकर्मियों सहित 42 लोगों के घायल होने की सूचना है। घटना के बाद इलाके में फैले तनाव को काबू में रखने के लिए धारा 144 लागू कर दी गई है। साथ ही 3 अप्रैल की रात तक इंटरनेट बंद करने के आदेश दिए गए हैं।

इस मामले में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक हवा सिंह घुमरिया  ने बताया कि इलाके में शांति बनाए रखने के लिए धारा 144 लागू कर दी गई है, जो सोमवार, 4 अप्रैल की रात तक जारी रहेगी। इसके साथ ही तीन अप्रैल की रात तक जिले में इंटरनेट सेवाएं भी बंद रहेंगी।

सीएम अशोक गहलोत ने पुलिस को दिए ये आदेश

हालात को काबू में रखने के लिए आईजी भरतपुर प्रफुल कुमार खमेसरा, आईजी कानून व्यवस्था भरत मीणा, एडीजी संजीव नार्झरी, डीआईजी राहुल प्रकाश और एसपी मृदुल कछवाहा समेत 50 अधिकारियों सहित 600 पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है।

इधर करौली में हुए इस पूरे घटनाक्रम से राजस्थान की राजनीति गरमा गई है। इस मामले में सीएम अशोक गहलोत ने पुलिस के डीजी से बात की है। गहलोत ने मीडिया से कहा,

“जनता शांति बनाए रखे और उपद्रवी हर धर्म में मौजूद होते हैं, उनसे दूर रहें। मैंने पुलिस को आदेश दिए हैं कि ऐसे असामाजिक तत्वों की जल्द पहचान कर पकड़ा जाए।”

You can connect with Ground Report on FacebookTwitterInstagram, and Whatsapp and Subscribe to our YouTube channel. For suggestions and writeups mail us at GReport2018@gmail.com 

ALSO READ