Home » Vikas Dubey Arrested: विकास दुबे की गिरफ्तारी होते ही उसके ये दो साथी भी चढ़े पुलिस के हत्थे

Vikas Dubey Arrested: विकास दुबे की गिरफ्तारी होते ही उसके ये दो साथी भी चढ़े पुलिस के हत्थे

Vikas Dubey Arrested, ujjain police, Vikas Dubey, Ujjain, Madhya Pradesh, Uttar Pradesh, Cm yogi adityanath, UP Police,
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Vikas Dubey Arrested: विकास दुबे की गिरफ्तारी होते ही उज्जैन पुलिस ने धर-पकड़ तेज कर दी है। उज्जैन पुलिस ने कुख्यात आरोपी विकास दुबे के दो अन्य साथियों को उज्जैन के एक हॉटेल से गिरफ्तार किया है। विकास दुबे के गिरफ्तार किए गए दो अन्य साथियों के नाम बिट्टू और सुरेश बताए जा रहे हैं।

विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर में दर्शन करने पहुंचा था। जहां गार्ड को शक होने पर अन्य गार्डों ने उस पर चौकसी बढ़ा दी और तुरंत पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद पुलिस ने मुस्तैदी दिखाते हुए विकास दुबे को महाकाल मंदिर में ही धर दबोचा।

विकास दुबे के हत्थे चढ़ते ही उज्जैन पुलिस ने उसके दो साथियों को भी उज्जैन के ही एक हॉटेल से धर दबोचा। पुलिस ने इसकी सूचना उत्तर प्रदेश पुलिस को दे दी है और आगे की कार्रवाई की जा रही है। इस मामले में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फोन पर बातचीत की और कहा कि मध्य प्रदेश पुलिस जल्द ही यूपी पुलिस को विकास दुबे को हेंड ओवर करेगी।

कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि, ‘विकास दुबे अभी मध्यप्रदेश पुलिस की कस्टडी में है। अभी गिरफ्तारी कैसे हुई इसके बारे कुछ भी कहना ठीक नहीं। मंदिर के अंदर या बाहर, कहां से गिरफ्तारी हुई, इसके बारे में कहना ठीक नहीं। विकास क्रूरता की हदें शुरू से ही पार कर रहा था। वारदात होने के बाद से ही हमने पूरी मप्र पुलिस को अलर्ट पर रखा था।’

READ:  जल, जंगल और ज़मीन को सहेजकर विकास की राह चल पड़ी हैं पहाड़ी महिलाएँ

वहीं इस मामले में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उज्जैन पुलिस को बधाई देते हुए कहा है कि, ‘जिनको लगता है की महाकाल की शरण में जाने से उनके पाप धूल जाएँगे उन्होंने महाकाल को जाना ही नहीं। हमारी सरकार किसी भी अपराधी को बख्श्ने वाली नहीं है।’

बता दें कि विकास दुबे के दो साथी पहले ही एनकाउंटर में ढेर हो चुके हैं। प्रभात मिश्रा पुलिस हिरासत से भागने की कोशिश कर रहा था, जिसके बाद एनकाउंटर में उसे ढेर कर दिया गया। प्रभात मिश्रा को बुधवार को फरीदाबाद से गिरफ्तार किया गया था। वहीं विकास दुबे गैंग का एक और मोस्ट वांटेड क्रिमिनल बबन शुक्ला भी पुलिस मुठभेड़ में मारा गया है।