Home » Vaccination: 21 जून से 18+ के लोगों के लिए केंद्र सरकार सभी राज्यों को देगी मुफ्त वैक्सीन

Vaccination: 21 जून से 18+ के लोगों के लिए केंद्र सरकार सभी राज्यों को देगी मुफ्त वैक्सीन

Vaccination
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Vaccination: सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बड़ा ऐलान किया कि अब 21 जून से 18 साल से ज्यादा उम्र वाले सभी लोगों को मुफ्त में वैक्सीन लगाई जाएगी। 21 जून को योग दिवस भी मनाया जाएगा। इसी बीच सभी राज्यों से वैक्सिनेशन (vaccination) का काम भी वापस लिया जाएगा और केंद्र सरकार इसका जिम्मा लेगी।

किसका था अभी तक वैक्सीनेशन(vaccination) का काम

अभी तक 50% वैक्सीनेशन का काम केंद्र सरकार देख रही थी। इसके अलावा 25% राज्य सरकार और 25% प्राइवेट सेक्टर की जिम्मेदारी थी। लेकिन 21 जून से वैक्सीनेशन का 75% काम केंद्र सरकार संभालेगी और बाकी का 25% प्राइवेट सेक्टर को ही दिया जाएगा।

Jammu Kashmir में औसत से अधिक Corona Vaccination, 4 जिलों में 100% लोगों का टीकाकरण

वैक्सीनेशन(vaccination) का सारा खर्च सरकार उठाएगी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश के किसी भी राज्य की राज्य सरकार को वैक्सीन पर कुछ भी खर्च नहीं करना पड़ेगा। अब तक देश के करोड़ों लोगों को मुफ्त वैक्सीन मिली है। अब 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को भी मुफ्त वैक्सीनेट किया जाएगा। देश में बन रही वैक्सीन में से 25 प्रतिशत, प्राइवेट सेक्टर के अस्पताल सीधे ले पाएं।

READ:  Must wait for final report on Delhi Oxygen claims: AIIMS Director

उन्होंने यह भी कहा कि प्राइवेट अस्पताल, वैक्सीन की एक डोज पर ज्यादा से ज्यादा 150 रुपए ही चार्ज कर सकते हैं।  इसकी निगरानी करने का काम राज्य सरकारों के ही पास रहेगा।

नवंबर तक मिलेगा मुफ्त राशन

सरकार ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को अब दीपावली तक आगे बढ़ाने का फैसला किया है। जिसके मुताबिक नवंबर तक 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को, हर महीने तय मात्रा में मुफ्त अनाज उपलब्ध होगा।

कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर जा रहे हैं तो ये चार बातें ध्यान रखें

अनगिनत सवालों का बाजार है गर्म

कोरोना के समय में बहुत सी अफवाहें सुनने को भी मिल रही हैं। जब वैक्सीनेशन की बात आई तो कई राज्य सरकारों ने कहा कि वैक्सीन का काम डी-सेंट्रलाइज कर दिया जाए और राज्यों पर छोड़ दिया जाए। ऐसे तरह-तरह की आवाजें उठी। जैसे कि वैक्सीनेशन के लिए Age Group क्यों बनाए गए? दूसरी तरफ किसी ने कहा कि उम्र की सीमा आखिर केंद्र सरकार ही क्यों तय करे? कुछ आवाजें तो ऐसी भी उठीं कि बुजुर्गों का वैक्सीनेशन पहले क्यों हो रहा है? भांति-भांति के दबाव भी बनाए गए, देश के मीडिया के एक वर्ग ने इसे कैंपेन के रूप में भी चलाया।

READ:  हमले की तैयारी में था अल-कायदा, UP ATS ने दो आतंकियों को पकड़ साजिश को किया नाकाम!

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।