पिथौरागढ़ बादल फटा

बादल फटने से उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में भारी तबाही

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में रविवार को बादल फटने से भारी तबाही हुई. पिथौरागढ़ जिले के बंगापानी तहसील के गैला टांगा में बादल फटने से एक मकान ध्वस्त, तीन लोगों की मौत, एक व्यक्ति घायल और आठ लोगों के लापता होने की खबर हैं. घटना की सूचना मिलने पर एसडीआरएफ, आपदा प्रबंधन टीम, एसडीएम, विधायक घटनास्थल के लिए निकल चुके हैं.

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पिथौरागढ़ के जिलाधिकारी को राहत और बचाव कार्य में ढ़िलाई ना दिखाने के निर्देश दिेए. इसके साथ उन्होंने घटना से प्रभावित लोगों को राहत राशि देने के भी निर्देश जारी किए हैं. मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बताया कि एसडीआरएफ की दो राहत टीमें बचाव कार्य में लगी हुई हैं.

ALSO READ:  Floods Create Havoc, When Will Authorities Take Note?

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, शनिवार से भारी बारिश होने के कारण गोरी नदी का जलस्तर अपने सामान्य जलस्तर से बढ़ गया. जिससे पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी के छोरीबगर गांव में पाँच घर बह गए है. आधिकारियों का कहना है कि “हादसे की खबर मिलते ही हम गांव में पहुँच गए. हम बीती रात से लोगों को राहत पहुँचाने का काम कर रहे है और सड़क में फिर से आवाजाही को सुचारु रुप से चलाने के लिए जेसीबी को कार्य में लगा दिया है.” पिथौरागढ़ के डीएम वीके जोगदंडे कहते हैं कि “सभी प्रभावित परिवारों को सुरक्षित स्थान पर स्थानांतरित कर दिया गया है और उन्हें मुआवजा प्रदान किया जाएगा. 30 और घर खतरे में हैं.”

ALSO READ:  अनलॉक 2.0 में उत्तराखंड में फिर से घूम सकते है आप

भारी बारिश के कारण धापा गांव में सैलाब बहने लगा है. उत्तराखंड में बारिश के कारण नादियां अपने उफान पर है. मौसम विभाग ने उत्तराखंड के हरिद्वार, पौड़ी गढ़वाल, नैनीताल और बागेश्वर जिले में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है.

Written By Kirti Rawat, She is Journalism graduate from Indian Institute of Mass Communication New Delhi.

ALSO READ:  चार धाम यात्रा: बदल गए हैं कई नियम, जानिए कैसे होगा रजिस्ट्रेशन

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।