Lok sabha eleciton 2019 : farmers problems income modi government

उत्तर प्रदेश: नहीं बिक पाई गन्ने की फसल, किसान ने की आत्महत्या

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Rohit Shivhare | Muzaffarnagar

उत्तर प्रदेश में लोक डॉन के दौरान निकलने की उपज की खरीदी ना होने से परेशान होकर मुजफ्फरनगर जिले के किसान ने पेड़ से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। परिवार ने मीडिया से बातचीत में बताया कि ओमपाल सिंह गुरुवार को खेत पर गए थे और बाद में जब लोगों ने उन्हें देखा तो उनका शव पेड़ पर लटका हुआ था।

परिवार का आरोप है कि पर गन्ने की उपज नाविक पाने की वजह से परेशान थे। परिवार जिले के सिसोली गांव में रहता हैं। आत्महत्या की खबर सुनने के बाद गांव वालों में आक्रोश फूट गया और किसानों ने शुक्रवार को चक्का जाम कर दिया साथी चीनी मिल मालिक पर किसानों का गन्ना न खरीदने का लेकर केस भी दर्ज कराने की मांग कर रहे हैं।

ALSO READ:  उत्तर प्रदेश:तीन दलित बच्चियों पर फेंका एसिड, एक की हालत गंभीर

किसान आत्महत्या की घटना के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्विटर पर कहा कि अपनी गन्ने की फसल को कितने सप्ताह देखो पर्ची न मिलने के चलते मुजफ्फरनगर के लिए गन्ना किसान ने आत्महत्या कर ली। भाजपा का दावा था कि 14 दिनों में पूरा भुगतान किया जाएगा लेकिन हजारों करोड रुपए दबाकर चीनी मिलें बंद हो चुकी हैं सोचिए इस आर्थिक तंगी के दौर में भुगतान ना पाने वाले किसान परिवारों पर क्या बीत रही होगी।

गौरतलब है कि जिला प्रशासन ने कहां है कि किसान ने जमीन को लेकर परिवार के विवाद के कारण खुदकुशी की है गन्ने की खरीदी बिना रुके चल रही थी।