Sun. Sep 22nd, 2019

उत्तर प्रदेश : स्कूल में झाड़ू लगा रहे बच्चों की फोटों खींचने पर पत्रकार गिरफ्तार…

Uttar Pradesh Azamgarh district magistrate NP Singh on Monday ordered a probe into the arrest of a journalist Santosh Jaiswal allegedly after he took photographs of some children mopping the floor in their school. journalist Santosh Jaiswal was arrested on false charges of extortion and obstructing public servants from discharging their duty, alleged a fellow journalist Sudhir Singh, who, along with other journalists met District Magistrate NP Singh to apprise him of the alleged illegal arrest.

प्रतीकात्मक फोटो।

न्यूज़ डेस्क | आजमगढ़

यूं देश के सरकारी प्राइमरी स्कूलों की सच्चाई किसी से छुपी नहीं लेकिन उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में ऐसी ही कुछ हकीकत को कैमरे में कैद करने गए पत्रकार को गिरफ्तार करने का मामला सामने आया है। आजमगढ़ के एक सरकारी स्कूल में रिपोर्टिंग करने पहुंचे स्थानीय पत्रकार संतोष जायसवाल स्कूल में झाड़ू लगा रहे बच्चों की तस्वीरे कैमरे में कैद कर रहे थे लेकिन उन्हें सरकारी काम में बाधा डालने और रंगदारी मांगने के झूठे आरोपों में गिरफ्तार किया गया है।

मामले की जांच के आदेश
पत्रकार संतोष जायसवाल के साथी पत्रकार सुधीर सिंह ने अपने अन्य साथी पत्रकारों के साथ इस मामले की जानकारी जिलाधिकारी को दी जिसके बाद जिलाधिकारी एनपी सिंह ने एक स्कूल में बच्चों द्वारा कथित रूप से झाड़ू लगाने की फोटो खींचने पर एक पत्रकार को गिरफ्तार करने के मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं।

जिलाधिकारी ने कहा – नहीं किया जाएगा अन्याय
जिलाधिकारी एनपी सिंह से मिलने पहुंचे अन्य पत्रकारों ने जब उन्हें अपने साथी पत्रकार संतोष जायसवाल की कथित अवैध गिरफ्तारी के बारे में सूचना दी तो जिलाधिकारी ने आश्वासन देते हुए कहा कि, ‘पत्रकारों के साथ अन्याय नहीं किया जाएगा। हम मामले को देखेंगे।’इसके बाद जिलाधिकारी ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

स्कूल में झाड़ू लगा रहे बच्चों की फोटों खींच पुलिस को सूचना दी
पत्रकार सुधीर सिंह ने बताया कि मामला पिछले हफ्ते शुक्रवार का है। हमारे साथी पत्रकार संतोष जायसवाल ने एक सरकारी स्कूल में झाड़ू लगा रहे बच्चों की फोटो खींची इसके बाद स्कूल प्रशासन के ‘अवैध कृत्यों’ की जानकारी देने के लिए पुलिस को फोन किया था। सुधीर ने इसके बाद बताया कि जायसवाल की कॉल पर पुलिस स्कूल पहुंच गई और जयसवाल और उदयपुर प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक राधे श्याम यादव को थाने ले गई।

पुलिस थाने में दर्ज की गई शिकायत
रिपोर्ट के मुताबिक, फूलपुर थाने में प्रधान अध्यापक ने जायसवाल के खिलाफ तहरीर दी जिसके आधार पर उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। पत्रकार के खिलाफ छह सितंबर को प्राथमिकी संख्या 237 दर्ज की गई। इसमें आरोप लगाया गया है कि पत्रकार जायसवाल अक्सर स्कूल आते थे, पुरुष एवं महिला शिक्षकों से और छात्रों से बदसलूकी करते थे और अपना अखबार सब्सक्राइब करने को कहते थे।

स्कूल के प्रिसिंपल ने लगाया पैसे मांगने का आरोप
प्राथमिक विद्यालय के प्रधान अध्यापक ने पुलिस थाने में दर्ज प्राथमिकी में आरोप लगाते हुए कहा है कि, घटना के दिन जायसवाल स्कूल आए और बच्चों को झाड़ू लगाने को कहा ताकि इसका फोटो खींचा जा सके। जब इसका विरोध किया तो जायसवाल स्कूल परिसर से चले गए लेकिन उनकी गाड़ी वहीं थी और बाद में उन्होंने उनसे पैसे मांगे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: