Home » HOME » अमेरिका के इतिहास का सबसे विभाजनकारी चुनाव, नतीजों के बाद हिंसा का डर

अमेरिका के इतिहास का सबसे विभाजनकारी चुनाव, नतीजों के बाद हिंसा का डर

US Election
Sharing is Important

अमेरिका का ऐतिहासिक चुनाव अपने आखिरी पड़ाव पर पहुंच चुका है आज रात यह साफ हो जाएगा की जो बिडेन और डोनाल्ड ट्रंप में से कौन अमेरिका का अगला राष्ट्रपति होगा। आप सोच रहे होंगे की चुनाव में तो हार जीत होती ही है फिर नतीजों के बाद हिंसा का डर क्यों है।

दरअसल तमाम पोल्स में बिडेन को ट्रंप से आगे दिखाया जा रहा है और मतगणना में शायद ट्रंप चुनाव हार जाएं लेकिन ट्रंप ने यह साफ कर दिया है कि अगर वो हारे तो लड़ाई सुप्रीम कोर्ट तक लेकर जाएंगे। यानी उन्होंने हार मानने से पहले ही इंकार कर दिया है। इस वजह से रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक पार्टी के समर्थकों के बीच हिंसा के आसार जताए जा रहे हैं।

ALSO READ: क्या अमेरिका में चुनाव बाद संवैधानिक संकट खड़ा होने वाला है?

पेंसिल्वेनिया का चुनाव बना गले की फांस

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार शाम ट्वीट किया था कि पेंसिल्वेनिया में मतगणना को लेकर सुप्रीम कोर्ट का फैसला हिंसा भड़का देगा। सुप्रीम कोर्ट में पेंसिल्वेनिया में चुनाव के तीन दिन बाद तक मत पत्रों की अनुमति दे दी है।

वाईट हाउस की सुरक्षा बढ़ाई गई

अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव के दिन सड़कों पर हिंसा बढ़ने की आशंका के मद्देनजर वॉइट हाउस और बड़े वाणिज्यिक स्थलों पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। अहम सरकारी प्रतिष्ठानों में उच्च सतर्कता बरती जा रही है। ‘सीक्रेट सर्विस’ ने वॉइट हाउस की किलेबंदी कर दी है। मंगलवार को मतदान से पहले वॉइट हाउस परिसर के चारों ओर बड़ी अस्थाई दीवारें खड़ी की गई हैं।

ALSO READ: US President Election: कैसे होता है अमेरिका के राष्ट्रपति का चुनाव?

‘द वॉशिंगटन पोस्ट ने कहा, ”चुनाव के बाद हिंसा के डर से खुदरा कारोबारियों ने खिड़कियों पर लकड़ी के कवर लगा दिए हैं और सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करने के प्रबंध किए हैं।” कैलिफोर्निया के बेवेर्ली हिल्स के पुलिस प्रमुख ने चुनाव के मद्देनजर हिंसा की चेतावनी दी है। उन्होंने ‘सीबीएस न्यूज को सोमवार को बताया कि अधिकारी बिना कोई छुट्टी लिए दिन के 12 घंटे काम कर रहे हैं।

अमेरिकी इतिहास का सबसे विभाजनकारी चुनाव

चुनाव की पूर्व संध्या पर ठेकेदारों को उत्तर में न्यूयॉर्क और बोस्टन से लेकर दक्षिण में ह्यूस्टन और पूर्व में वॉशिंगटन डीसी और शिकागो से लेकर पश्चिम में सैन फ्रांसिस्को तक इमारतों की खिड़कियों पर लकड़ी के कवर लगाते देखा जा रहा है। अमेरिका में 2020 आम चुनाव को हालिया अमेरिकी इतिहास में सबसे विभाजनकारी चुनाव बताया जा रहा है।

‘ब्लैक लाइव्ज’ मैटर विरोध प्रदर्शन में शामिल समूहों समेत रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप और उनके डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी बाइडेन के समर्थकों ने मंगलवार रात को वॉशिंगटन डीसी में एकत्र होने की घोषणा की है। अश्वेत अमेरिकी जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद इस साल की शुरुआत में नस्ली भेदभाव के खिलाफ हुए हिंसक प्रदर्शनों में वॉशिंगटन डीसी में कई दुकानें और कारोबार क्षतिग्रस्त कर दिए गए थे। इसीके मद्देनजर चुनाव से पहले वॉशिंगटन डीसी में सुरक्षा कड़ी की गई है।

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups