Video: लखनऊ में कोरोना से बुरा हाल, Bhaisakund में श्मशान ढंकती सरकार

Bhaisakund Cremation Ground Lucknow
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में कोरोना कहर बरपा रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में देखा गया कि Bhaisakund में श्मशान घांट को शेड लगाकर ढंका जा रहा है ताकि सरकार की नाकामी छिपाए जा सके। दिन दर दिन कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। (Bhaisakund) श्मशान घांट में कोविड से मरने वाले शवों के आने का सिलसिला जारी है।

आपको बता दें कि बुधवार को एक और वीडियो वायरल हुआ था जिसमें (Bhaisakund) स्थित श्मशान घांट में बड़ी संख्या में चिताएं जलती दिखाई दे रही थी।

प्रियंका गांधी ने भी किया (Bhaisakund) का वीडियो साझा

प्रियंका गांधी ने यूपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘त्रासदी छिपाने में अपना समय, संसाधन और ऊर्जा लगाने की बजाय योगी सरकार को संक्रमण फैलने से रोकने के लिए ठोस कदम उठाना चाहिए। 

READ:  Maharashtra: Workers start returning home after declaration of Section-144

यूपी में बढ़ता कोरोना का ग्राफ

यूपी में कोरोना बुरी तरह फैल रहा है। राज्य में पिछले 24 घंटे कोरोना की वजह से 68 लोगों की मौत हो गई तथा 20,510 नए मामले सामने आए। यह अब तक के सबसे अधिक मामलेट हैं। राज्य में अब तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 9,376 हो गई है।

READ:  COVID-19: What is the reason behind decreasing data?

कुंभ बना कोरोना का हॉटस्पॉट

वहीं उत्तराखंड के हरिद्वार में चल रहा कुंभ मेला कोरोना का हॉटस्पॉट बनता जा रहा है। कुंभ में मेला क्षेत्र में संक्रमितों की संख्या 2000 तक बढ़ने की संभावना जाताई जा रही है। अभी आरटीपीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट का इंतज़ार किया जा रहा है।

कुंभ मेला क्षेत्र 670 हेक्टेयर में फैला हुआ है, जिसमें ऋषिकेश सहित हरिद्वार, टिहरी और देहरादून जिले शामिल हैं। 12 अप्रैल और 14 अप्रैल को आयोजित दो शाही स्नान में करीब 48.51 लाख लोगों ने हिस्सा लिया और कोविड-19 नियमों की धज्जियां उड़ाईं। सरकार ने कहा था कि वह कैमरा के जरिए निगरानी करेगी लेकिन स्नान की तस्वीरों में कोई भी मास्क लगाए नहीं दिखा और सोशल डिस्टेंसिंग की भी धज्जियां उड़ाई गई।

READ:  भारत में 10 सबसे बड़े मौत के कारण: कहां आता है इसमें कोरोना?

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।