योगी : जो उपद्रवी जिस भाषा में समझेगा, उसे उसी भाषा में समझाएंगे

विधानमंडल के बजट सत्र के दौरान बुधवार को विधानसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कहा कि जिन लोगों ने अयोध्या में राम भक्तों पर गोली चला कर अयोध्या की मान्यता को दूषित का प्रयास किया था, वे आज उपद्रवियों पर होने वाली कार्रवाई पर हमसे जवाब मांग रहे हैं। उन्होंने कहा कि रामराज कोई धार्मिक राज्य नहीं है। रामराज्य कोई धार्मिक कार्य नहीं है। इसकी परिभाषा स्पष्ट है। लेकिन लोकतंत्र की आड़ में अगर कोई आतंक मचाएगा तो वह जिस भाषा में समझेगा, उसे उसकी भाषा में समझाएंगे।

Kanpur Central: कानपुर रेलवे स्टेशन पर कैसे रोज़ाना हज़ारो लीटर पानी हो रहा है बर्बाद : देखें

लोकतंत्र में हर एक को बोलने व विरोध करने का अधिकार व आजादी है। लेकिन संविधान के दायरे में रहकर ही यह किया जा सकता है। लेकिन जिन लोगों ने संविधान को तार-तार किया, वो आज संविधान की दुहाई देते हैं। जिन लोगों ने महिलाओं की इज्जत को तार-तार किया वो महिला सशक्तिकरण की बात करते हैं। जिन्होंने बलिकाओं हो रहे अत्याचारों पर कहा था कि बच्चों से गलती हो जाती है, वे लोग यहां पर महिला सुरक्षा की बात कर रहे हैं। जिन लोगों ने आयोध्या में राम भक्तों पर गोली चलाकर वहां की मान्यता दूषित करने का काम किया था वे उपद्रवियों के खिलाफ हो रही कार्रवाई पर हमसे जवाब-तलब करने का प्रयास कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि विपक्ष सार्थक बहस से भाग रहा है। हम सभी के विकास के लिए काम कर रहे हैं जबकि पहले सपा-बसपा की सरकारें कुछ लोगों के लिए और कुछ जिलों के लिए ही काम करती थीं। पहले सिर्फ पांच जिलों में ही बिजली आती थी लेकिन हमारी सरकार आने के बाद अब प्रदेश के सभी जिलों को बिजली मिल रही हैं। हम गरीबों के लिए घर बना रहे हैं। शौचालय बना रहे हैं। उनके जीवन स्तर में सुधार आए इस दिशा में काम कर रहे हैं और विपक्ष हर बार इसमें रोड़ा अटका रहा है।

IIT-KANPUR : स्पेस तक़नीक से रोकेंगे खेतों के पानी की बर्बादी

सीएम ने कहा- रामराज्य कोई धार्मिक कार्य नहीं है। सिर पर टोपी पहनने से धर्म नहीं हो जाता। जो लोग राष्ट्रीय सुरक्षा को आघात पहुंचाना चाहते हैं उन्हें विपक्षियों की सहानुभूति मिलती है। अगर उनकी सहानुभूति गरीब किसानों की तरफ होती तो हमें खुशी होती। लेकिन उन लोगों के प्रति उनकी कोई सहानुभूति नहीं है। रामभक्तों पर गोली चलवाया था और आतंकवादियों के मुकदमे वापस लेते हैं, वो लोग कौन हैं? ऐसे लोग समझ हीं नही सकते कि रामराज्य क्या होता है? वो चेहरे कौन थे जो अयोध्या और बनारस और गोरखपुर समेत कई जगह होने वाले ब्लास्ट के आरोपियो की मदद कर रहे थे।

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।