UP Board 12th Exam 2021: CBSE के बाद अब UP Board 12वीं के Exam भी हो सकते हैं रद्द, जानिए क्या कहा शिक्षा मंत्री ने

UP Board 12th Exam 2021: कोरोना महामारी (covid 19) के चलते सीबीएसई की 12 वीं परीक्षा रद्द कर दी गई है जबकि कुछ परीक्षाओं को कुछ समय के लिए टाल दिया गया तो कुछ में छात्रों को पिछले साल के रिजल्ट के आधार पर पास कर दिया गया है। वहीं अब खबर है कि उत्तर प्रदेश एजुकेशन बोर्ड की 12 वीं की परीक्षाएं भी रद्द (UP Board 12th Exam 2021) की जा सकती है। बीते दिन सीबीएससी 12 वीं बोर्ड की परीक्षा रद्द होने के बाद ये कयास लगाए जा रहे हैं कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यूपी बोर्ड 12 की परीक्षा रद्द (UP Board 12th Exam 2021) कर सकते हैं।

शिक्षा मंत्री ने कही यह बात
इस मामले में शिक्षा मंत्री दिनेश शर्मा ने मंगलवार को यूपी बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर कहा कि 12वीं की परीक्षाओं पर फैसला योगी आदित्यनाथ के साथ की जाने वाली बैठक में किया जाएगा। दसवीं की परीक्षा रद्द होने पर डिप्टी सीएम शर्मा ने कहा था कि यूपी बोर्ड की कक्षा 10 की परीक्षाएं रद्द कर दी गई है और 12वीं की परीक्षाओं को जुलाई के मध्य में आयोजित किया जा सकता है लेकिन ऐसा तभी होगा जब स्थिति अनुकूल हो।

बता दें कि, उत्तर प्रदेश एजुकेशन बोर्ड की दसवीं (high school) की परीक्षा भी रद्द कर दी गई है। इसके चलते छात्रों को उनके होम एग्जाम के और प्रैक्टिकल्स के आधार पर पास कर दिया गया है। दसवीं की परीक्षा रद्द होने पर डिप्टी सीएम शर्मा ने कहा था कि यूपी बोर्ड की कक्षा 10 की परीक्षाएं रद्द कर दी गई है और 12वीं की परीक्षाओं को जुलाई के मध्य में आयोजित किया जा सकता है।

बड़ी खबर: CISCE 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं भी हुईं रद्द

शिक्षा मंत्री द्वारा लिया गया फैसला
बैठक के बाद शिक्षा मंत्री शर्मा ने मंगलवार को यूपी बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर कहा कि 12वीं की परीक्षाओं पर फैसला योगी आदित्यनाथ के साथ की जाने वाली बैठक में किया जाएगा। दिनेश शर्मा ने एक वीडियो संदेश जारी करते हुए कहा कि अभी के लिए 12वीं की परीक्षाओं को जुलाई के मध्य तक टाल दिया गया है , लेकिन अगर कोविड-19 के मामलों में सुधार नहीं आता है तो फिर योगी आदित्यनाथ के साथ बैठक कर इस बात पर फैसला लिया जाएगा।

कैसा होगा परीक्षा का पैटर्न
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद(UPMSP) ने बोर्ड पेपर के पैटर्न को लेकर विचार किया है। UPMSP के द्वारा विचारे गए फैसले पर कहा गया कि महामारी के आक्रामक रूप को देखते हुए बोर्ड परीक्षा को 3 घंटे का ना कराकर डेढ़ घंटो में ही खत्म कर दिया जाएगा। साथ ही महामारी को ध्यान में रखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन सुचारू रूप से होगा।

बाकी की कक्षा की परीक्षाओं के लिए कही यह बात
दिनेश शर्मा ने बाकी की कक्षाओं के पेपर के बारे में भी जानकारी देते हुए कहा कि कक्षा 7 8 9 और 11 के बच्चों को बिना परीक्षा दिला ही पास कर दिया जाएगा। इन सारी बातों को सुनकर उस पर प्रतिक्रिया देते हुए कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने भी ट्वीट कर कहा कि यह कदम न सिर्फ बच्चों के लिए बल्कि टीचरों के स्वास्थ्य और उनकी सुरक्षा के लिए भी गहरी चिंता को जताता है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।