उन्नाव में दुष्कर्म पीड़िता की मौत से सदमे में आई बहन की हालत बिगड़ी

Hyderabad: MIM activist arrested in minor Dalit girl rape case
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट । न्यूज़ डेस्क

हाल ही में उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद से पूरा परिवार सदमे में है। इसी कड़ी में मृतक रेप पीड़िता की बहन की तबीयत सोमवार को अचानक बिगड़ गई, जिसके बाद सुरक्षा में तैनात पुलिस उसे जिला अस्पताल में भर्ती करवाया। पीड़ित बहन को सीने में दर्द और घबराहट की शिकायत थी। फिलहाल डॉक्टर पीड़िता की बहन का इलाज कर रहे हैं।

डॉक्टर्स की टीम ने उपचार किया, लेकिन फायदा ना होने पर डॉक्टर ने जिला अस्पताल भेजा। जहां उसकी हालत में सुधार है पेट दर्द होने के कारण अल्ट्रासाउंड कराया जा रहा है। बीमार बहन के साथ आईं भाभी ने बताया कि उसे रात करीब 11 बजे अचानक सीने में तेज दर्द घबराहट और चक्कर आने लगा जिससे वह बेहोश हो गई यह देख सुरक्षा में तैनात कर्मचारियों को जानकारी दी गई आनन-फानन में एंबुलेंस बुलवा सुमेरपुर पीएचसी ले जाया गया।

READ:  कोविड महामारी और बुन्देलखण्ड का पलायन

बता दें कि जमानत पर छूटकर आए आरोपियों ने केस की परैवी पर जा रही पीड़िता पर पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया था। इस दौरान वह 90 फीसदी से ज्यादा जल चुकी थी, जिसके बाद उसे लखऊ के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसकी हालत और खराब होती गई तो उसे एयर एम्बुलेंस के जरिए दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उसने बीते शनिवार को दम तोड़ दिया

रविवार को पीड़िता का अंतिम संस्कार किया गया। पीड़ित लड़की की बहन ने कहा कि सभी आरोपियों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए। वहीं उसने धमकी देते हुए कहा कि अगर उसकी बहन के हत्यारों को फांसी नहीं मिली तो वह आत्मदाह कर लेगी। अंतिम संस्कार के बाद मीडिया से बातचीत में पीड़िता की बहन ने योगी सरकार से जल्द से जल्द न्याय की मांग की।

READ:  लिव इन रिलेशन को नकारने वाला समाज नाता प्रथा पर चुप क्यों रहता है?

इस मामले में पुलिस ने पांच आरोपियों को किया गिरफ्तार उन्नाव सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता को जलाने के मामले में पुलिस ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आदेश दिया है।