Home » पथराव से बचने के लिए पुलिस ने सिर पर रखा स्टूल, कई पुलिसकर्मी सस्पेंड!

पथराव से बचने के लिए पुलिस ने सिर पर रखा स्टूल, कई पुलिसकर्मी सस्पेंड!

गुस्साई भीड़ ने किया पथराव तो पुलिस ने डलिया और स्टूल से किया बचाव ; जांच के आदेश, कई पुलिस कर्मी ससपेंड !
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report | News Desk | Unnao | Police uses stool & daliya for protection in unnao | उत्तर प्रदेश के उन्नाव (unnao) में हुई एक सड़क दुर्घटना ने दंगे का रूप ले लिया है। दरअसल, दो युवको की दुर्घटना में मौत हो जाने के बाद पुलिस के बर्ताव से नाखुश होने की वजह से उनके परिजनों ने पुलिस कर्मियों पर जमकर पथराव किया। पुलिस वालों ने अपने बचाव के लिए स्टूल और डलिया का इस्तेमाल किया, घटना को लेकर प्रदेश के डीजीपी एच.सी.अवस्थी काफी नाराज़ और गंभीर है। जानकारी अनुसार पुलिस के पास दंगा रोधी उपकरण होने के बावजूद डलिया और स्टूल के इस्तेमाल से डीजीपी नाराज़ हैं।

निचली जाति का कह कर भोज से उठाया, विरोध करने पर पीटा, पुलिस से भी नहीं मिली मदद!

डीजीपी ने उन्नाव ( Unnao ) के एसपी आनंद कुलकर्णी से स्पष्टीकरण माँगा है, और स्थानीय थानेदार दिनेश मिश्रा को ससपेंड भी कर दिया है। इस घटना की तस्वीरें और वीडियो तेज़ी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, फोटो में नज़र आ रहे डलिया और स्टूल लगाए दोनों सिपाहियों को भी ससपेंड कर दिया गया है। ससपेंड हुए पुलिस कर्मियों की सूची में हेड कांस्टेबल विजय कुमार और पुलिस लाइन का कांस्टेबल रामाश्रय यादव शामिल है। जब एसपी से स्पष्टीकरण माँगा गया तो उन्होंने एडिशनल एसपी शशिशेखर सिंह से इस पूरे घटनाक्रम पर जवाब माँगा है। दूसरी तरफ आईजी लक्ष्मी सिंह ने रायबरेली के एडिशनल एसपी को जांच करने का ज़िम्मा सौंपा है। अब इस मामले में सीओ सिटी उन्नाव कृपाशंकर सिंह से स्पष्टीकरण मांगा गया है जबकि चौकी प्रभारी मगरवारा अखिलेश यादव को निलंबित कर दिया गया है।

READ:  Kashmir: 60 साल पहले मर चुके शख्स को लगा डाला कोरोना का टीका!

क्या है पूरा मामला ?

करीब तीन घंटे तक चली पथराव और तोड़फोड़ के इस हादसे में दरोगा को मिलाकर 18 पुलिस कर्मी घायल हुए हैं। मंगलवार दोपहर को सदर कोतवाली क्षेत्र के गाँव देवी खेड़ा का निवासी राजेश व विनय बाइक से उन्नाव (unnao) शहर की तरफ जा रहे थे, उसी वक़्त मगरवारा चौकी के करीब रॉंग साइड से आ रही एक एसयूवी कार ने दोनों दोस्तों को सामने से टक्कर मार दी, टक्कर इतनी ज़बरदस्त थी की दोनों युवको की तुरंत ही मौत हो गयी। राजेश की बहन की शादी 17 जून को होनी थी, पर इस हादसे की वजह से घर का माहौल ही बदल गया है।

हादसे के बाद जिला अस्पताल जहाँ दोनों को ले जाया गया था, वही उन दोनों लड़को के परिजनों ने कार वाले की गिरफ़्तारी और मुआवजे की मांग की, पर उस वक़्त किसी तरह एसडीएम सदर ने समझा बुझा कर परिजनों को वहां से भेज दिया था। जिसके बाद बुधवार को फिर परिजनों ने और लोगों को जुटा कर उन्नाव – शुक्लागंज राजधानी मार्ग पर स्थित अकरमपुर में रास्ता बंद कर दिया। सूचना मिलते ही एसडीएम सत्यप्रिय सिंह, सीओ सिटी व पुलिस बल लेकर मौके पर पहुंचे, जिसके बाद परिजनों के साथ आये लोगों ने पथराव शुरू कर दिया और पुलिस कर्मियों ने किसी तरह जान बचायी। जिसके बाद एसडीएम और पुलिस ने बल का प्रयोग करते हुए भीड़ को वहां से भगाया।

READ:  People Dying Due To Hunger: दुनिया भर में हर मिनट 11 लोगों की हो रही भूख से मौत

शराब माफिया से धमकी के बाद पत्रकार की रहस्यमय मौत !

घायल पुलिस वालों का स्थानीय जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है, और हमला करने वाले 35 युवको को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया है और बाकियों की पड़ताल जारी है। एसयूवी कार के मालिक के खिलाफ भी केस दर्ज कर लिया गया है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।