अमेरिका में 1.8 करोड़ लोग कर चुके हैं बेरोज़गारी राहत के लिए आवेदन, हमारे यहां क्या है प्रक्रिया?

unemployment due to lockdown
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

दुनियाभर में कोरोनावायरस के वजह से हुए लॉकडाउन ने कई लोगों की नौकरियां छीन ली। भारत ने मज़दूरों के भयंकर पलायन के रुप में इस समस्या को देखा। अब जब देश लॉकडाउन से आज़ाद हो चुका है, लोग नौकरियों पर लौट रहे हैं, जो मज़दूर पलायन कर अपने गांव लौट गए उनके लिए सरकार रोज़गार की व्यवस्था कर रही है। दुनियाभर की सरकारों ने बेरोज़गार हुए लोगों का पंजीयन शुरु किया जिससे के नौकरी जाने के बाद उन्हें ज़रुरी राहत दी जा सके। भारत में CMIE के मुताबिक लॉकडाउन की वजह से 12.2 करोड़ लोगों की नौकरियां चली गई। हमारी सरकार के पास बेरोज़गारी को लेकर न कोई पुख्ता डेटा अभी है न पहले था। दूसरे देशों की तरह हमारे यहां बेरोज़गार हुए लोग कहां आवेदन करें इसकी कोई जानकारी नहीं है।

अमेरिका में पिछले सप्ताह 13 लाख से अधिक लोगों ने सरकार से बेरोजगारी राहत पाने के लिए आवेदन किया। इससे पता चलता है कि कई नियोक्ता अभी भी महामारी के मद्देनजर छंटनियां कर रहे हैं। भारत में भी हो रही है क्योंकि अब कंपनियों को हुए लॉकडाउन की वजह से नुकसान की भरपाई लोगों को निकाल कर की जा रही है। कई लोगों की सैलरी में कटौती भी हो रही है। से छंटनी ऐसे समय हो रही है, जब कोरोना वायरस के संक्रमण के नये मामलों में जबरदस्त वृद्धि के कारण अमेरिका के छह प्रमुख राज्यों एरिजोना, कैलिफोर्निया, कोलोराडो, फ्लोरिडा, मिशिगन और टेक्सास ने अर्थव्यवस्था को खोलने की योजना पलट दी है। 

ALSO READ:  मज़दूरों के लिए सरकारी मदद 'ऊंट के मुंह में ज़ीरा' जैसी, ट्रक पलटने से नौ और मज़दूरों की मौत

श्रम विभाग की बृहस्पतिवार की रिपोर्ट से पता चलता है कि बेरोजगारी राहत के लिए आवेदनों की संख्या पिछले सप्ताह में कम होकर 13 लाख के आस-पास आ गयी। यह एक सप्ताह पहले 14 लाख थी। हालांकि बेरोजगारी राहत के लिए आवेदन करने वालों की संख्या लगातार 16वें सप्ताह 10 लाख से ऊपर है।

महामारी से पहले बेरोजगारी राहत के लिए किसी भी एक सप्ताह में सर्वाधिक आवेदनों का रिकॉर्ड सात लाख से कम था। इस दौरान पहले से बेरोजगारी राहत पा रहे लोगों की संख्या में सात लाख की कमी आयी और यह आंकड़ा अब 1.8 करोड़ पर आ गया। इससे यह पता चलता है कि कुछ कंपनियां अपने कर्मचारियों को पुन: नियुक्त करने लगी हैं।

इसके अलावा पिछले सप्ताह स्वरोजगार करने वालों तथा अल्पकालिक कामगारों के लिए एक अन्य सरकारी राहत कार्यक्रम के तहत अतिरिक्त 10 लाख लोगों ने आवेदन किये। स्वरोजगार करने वालों तथा अल्पकालिक कामगारों के लिए पहली बार बेरोजगारी राहत योजना तैयार की गयी है।

उल्लेखनीय है कि अमेरिका की अर्थव्यवस्था में सबसे महत्वपूर्ण योगदान देने वाले चार राज्यों एरिजोना, कैलिफोर्निया, फ्लोरिडा और टेक्सास में कोरोना वायरस के नये मामले अभी भी तेजी से बढ़ रहे हैं। अमेरिका में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की कुल संख्या में आधे से अधिक मरीज इन्हीं चार राज्यों से हैं।

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups.