Tulsi Vivah 2020: Why Tulsi marriage happens, see Tulsi Puja Vidhi and auspicious time

Tulsi Vivah 2020: क्यों होता है तुलसी विवाह, देखें तुलसी पूजन विधि और शुभ मुहुर्त

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Tulsi Vivah – Tulsi Puja 2020: दिवाली के 11 दिन बाद कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी मनाई जाती है। हिन्दू धर्म में इस एकादशी का बड़ा महत्व है। इस दिन को देवउठनी एकादशी, देवोत्थान एकादशी, देव प्रबोधिनी एकादशी के रूप में मनाया जाता है। ऐसी मान्यता है कि देवउठनी एकादशी के दिन तुलसी विवाह हुआ था और इस दिन पूरे रीति रिवाजों के साथ तुलसी पूजा की जाती है। कुछ जगह तुलसी और गन्ने की भी पूजा की जाती है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन शालीग्राम और तुलसी की पूजा से पितृदोष खत्म होता है।

गाय की एक ऐसी नस्ल जिसे घर में रखना माना जाता है स्टेटस सिंबल

READ:  Love Jihad: लव जिहाद पर योगी सरकार का अध्यादेश, जानिए कुछ मुख्य बातें

Tulsi Vivah – Tulsi Puja 2020: क्यों होता है तुलसी विवाह, ये है पौराणिक कथा-
पौराणिक कथा के अनुसार शालिग्राम, भगवान विष्णु का ही एक अवतार हैं। कथा के अनुसार एक बार तुलसी ने भगवान विष्णु को गुस्से में आकर श्राप दे दिया था जिसके चलते भगवान विष्णु पत्थर बन गए। इस श्राप से मुक्ति के लिए उन्होंने शालिग्राम का अवतार लिया और तुलसी से विवाह किया। पौराणिथ कथा के अनुसार, माँ लक्ष्मी का अवतार ही तुलसी माता हैं। कई जगहों पर एकादशी तो कई जगह द्वादशी के दिन तुलसी विवाह किया जाता है।

घर पर ही संभव है कोरोना का इलाज, पर बरतें जरूरी सावधानियां

Tulsi Vivah – Tulsi Puja 2020: तुलसी विवाह की पूजन विधि
तुलसी विवाह और तुलसी पूजा वाले दिन तुलसी के पौधे के चारों ओर मंडप बनाए। अब इसके बाद तुलसी के पौधे को एक लाल चुनरी अर्पित कर ओढ़ाएं और श्रृंगार की चीजें अर्पित कर हल्दी, कुमकुम रोली का टीका लगाएं। पूजा अर्चना कर तुलसी सात परिक्रमा कर आरती करें और अब पूजा संपन्न करें।

READ:  राममंदिर भूमिपूजन: न्यूज़ रूम बने पूजा पंडाल तो न्यूज़ एंकर पुजारी

Tulsi Vivah – Tulsi Puja 2020: तुलसी विवाह का शुभ मुहूर्त
एकादशी तिथि प्रारंभ-
 25 नवंबर, बुधवार, सुबह 2:42 बजे से
एकादशी तिथि समाप्त- 26 नवंबर, गुरुवार, सुबह 5:10 बजे तक
द्वादशी तिथि प्रारंभ- 26 नवंबर, गुरुवार, सुबह 05 बजकर 10 मिनट से
द्वादशी तिथि समाप्त- 27 नवंबर, शुक्रवार, सुबह 07 बजकर 46 मिनट तक

बॉलीवुड की वो 8 मुस्लिम महिलाएं जिन्होंने हिन्दू अभिनेताओं से की शादी

Tulsi Vivah – Tulsi Puja 2020: एक अन्य मान्यता
मान्यता है कि घर में कलह से मुक्ति पाने के लिए तुलसी मुख्य तत्व है। तुलसी पूजा और तुलसी विवाह वाले दिन तुलसी के पत्ते तोड़कर पानी में रखने चाहिए और उसके अगले दिन इस जल को घर के मुख्य द्वार से घर के चारों तरफ और कोने-कोने में छिड़कने से घर में साकारात्मक उर्जा का संचार होता है साथ ही घर के क्लेश और कलह भी दूर होते हैं।

READ:  Mahatma Gandhi Jayanti 2020: कायरता से अच्छा है लड़ते लड़ते मर जाना, पढ़ें गांधी के सुविचार

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at [email protected] to send us your suggestions and writeups.