गुजरात मॉडल : झुग्गियों को दीवार से छिपाने के बाद 45 ग़रीब परिवारों का घर ख़ाली कराएगी सरकार

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अहमदाबाद में दीवार खड़ी करने का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ है कि अब ताज़ा मामला झुग्गी-झोपड़ी को हटाने का आया है। यह झुग्गी-झोपड़ी उस मोटेरा स्टेडियम के पास है जिसमें प्रधानमंत्री मोदी 24 फ़रवरी को ट्रंप का स्वागत करेंगे। अहमदाबाद नगर निगम (AMC) ने सोमवार को नवनिर्मित मोटेरा स्टेडियम के पास एक झुग्गी में रहने वाले 45 परिवारों को बेदखली के नोटिस दिए, जहां 24 फरवरी को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मेजबानी के लिए तैयार किया जा रहा है ।

गुजरात मॉडल : हर ग़रीब को पक्का मकान देने वाली सरकार झुग्गियां छिपाने में लगी है

झुग्गी में पिछले 22 सालों से रहने वाले 35 वर्षीय तेजा मेडा ने कहा, ‘हमें नोटिस देने के लिए आने वाले एएमसी अधिकारियों ने जितनी जल्दी हो सके उतनी जल्दी खाली करने को कहा है। उन्होंने हमसे कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति मोटेरा स्टेडियम आने वाले हैं और वे हमें यहां से हटाना चाहते हैं।’

READ:  Babri Demolition Case : जज की वो पांच टिप्पणियां, जो आपको सोचने पर मजबूर कर देंगी..

तमिलनाडु : दलित युवक को भीड़ ने पीटा, हुई मौत

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार इसमें क़रीब 200 लोग रहते हैं जो निर्माण कार्य में काम करने वाले कामगार के रूप में पंजीकृत हैं। रिपोर्ट के अनुसार उन परिवारों का कहना है कि वे वहाँ क़रीब दो दशक से रह रहे हैं और ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम के लिए उन्हें हटने के लिए कह दिया गया है। हालांकि, एएमसी अधिकारियों ने कहा कि नोटिस का घटना से कोई संबंध नहीं है । यह कदम एएमसी द्वारा सरनियावास या देव सरन झुग्गी को ढकने के लिए एक दीवार का निर्माण शुरू करने के कुछ ही दिनों बाद आया है जो अमेरिकी राष्ट्रपति के शहर का दौरा करने के दौरान रास्ते में पड़ेगा।

READ:  Whatsapp की बैंड बजा रहा है Signal App आपने किया क्या डाउनलोड?

‘दलित दूल्हे’ को ऊंची जाति के लोगों ने घोड़ी चढ़ने से रोका

एएमसी की नोटिस की कॉपी में कहा गया है कि अतिक्रमण की गई जमीन एएमसी की है और यह कस्बा परियोजना कार्यक्रम का हिस्सा है। झुग्गी-झोपड़ी वालों को सात दिनों के भीतर अपना सामान हटाने के लिए कहा गया है। किसी भी अपील के मामले में, झुग्गियों में रहने वालों को बुधवार तक विभाग से संपर्क करने के लिए कहा गया है। सोमवार को दिए गए नोटिस 11 फरवरी, 2020 की तारीख के हैं, जिसके अनुसार मंगलवार को सात दिवसीय अवधि समाप्त हो रही है।

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।

READ:  अग्निकन्या से दीदी तक : ममता बनर्जी का राजनीतिक सफ़र
%d bloggers like this: