Tribal Burnt Alive in MP

मध्यप्रदेश में 5 हजार रुपये का कर्ज नहीं चुकाने पर आदिवासी को ज़िंदा जलाया

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के गुना जिले में एक आदिवासी युवक को केरोसिन डालकर ज़िंदा जलाए जाने का मामला समाने आया है। (Tribal Burnt Alive in MP) भोपाल से 214 किलोमीटर दूर गुना जिले की बमोरी विधानसभा क्षेत्र में जमीदार ने आदिवासियों की संरक्षित जनजाति सहरिया जनजाति के एक युवक को इसलिए जिंदा जला दिया, क्योंकि उसने 3 साल पहले 5000 रुपये का कर्जा लिया था और अब तक नहीं चुकाया था।

ब्याज के बदले सहरिया आदिवासी युवक 3 साल से जमीदार के यहां बंधुआ मजदूरी कर रहा था। बमोरी विधानसभा क्षेत्र शिवराज सिंह सरकार के पंचायत मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया का क्षेत्र है। विधानसभा उपचुनाव में महेंद्र सिंह सिसोदिया इसी क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रत्याशी हैं।

ALSO READ: Arnab Goswami: अर्णब गोस्वामी को जेल से बेल नहीं, High Court ने सुना दिया ये फरमान

क्या था मामला?

गुना जिले के बमौरी क्षेत्र के उकावद खुर्द गांव के रहने वाले आदिवासी विजय सहरिया (Vijay Sahariya) ने गांव के ही राधेश्याम से तीन साल पहले पांच हजार रुपए उधार लिए थे। इसके बदले तब से लगातार खेत में जबर्दस्ती उससे काम कराया जा रहा था। शुक्रवार रात पैसों को लेकर हुए विवाद के बाद बीच गांव में मंदिर के सामने केरोसिन डालकर उसे जिंदा जला दिया। जली हुई हालत में उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां देर रात दम तोड़ दिया।

READ:  भोपाल: हिंदू बन की युवती से शादी अब धर्म परिवर्तन का दबाव

ALSO READ: नोटबंदी और देशबंदी से भाजपा सरकार ने अनगिनत घर उजाड़ दिए: राहुल गांधी

घटना को लेकर बंधुआ मुक्ति मोर्चा के जिला संयोजक ने विरोध दर्ज कराया। उन्होंने श्रम मंत्रालय, प्रमुख सचिव, मानवाधिकार आयोग और SP से शिकायत कर जांच की मांग की है। प्रशासन ने आरोपी को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, मौत से पहले घायल युवक ने आरोपी राधेश्याम का नाम लिया है। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। ग्रामीणों के मुताबिक, युवक ने तीन साल पहले राधेश्याम से पांच हजार रुपए उधार लिए थे। इसके बदले में तीन साल से लगातार उसके खेत में मजदूरी कर रहा था। खास बात है कि मजदूरी के बदले उसे पैसा भी नहीं दिया जा रहा था। ग्रामीणों का कहना है कि उससे जबर्दस्ती काम करवाया जा रहा था। जब भी विजय पैसे मांगता, तो उसे मार-पीटकर भगा दिया जाता था। इसके बाद भी राधेश्याम उससे पैसे मांग रहा था।

READ:  मध्य प्रदेश : 35 कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं पर मामला दर्ज

दैनिक भास्कर के मुताबिक, 26 साल का विजय सहरिया पुत्र कल्लू सहरिया छोटी उकावद खुर्द गांव में मां गीताबाई, छोटे भाई ओमप्रकाश, पत्नी रामसुखी और दो बच्चों के साथ रहता था। वह मजदूरी कर परिवार का पालन पोषण करता था। गांव में ही रहने वाला राधेश्याम पुत्र चुन्नीलाल लोधा बड़ा किसान और रसूखदार है। पुलिस के मुताबिक, शुक्रवार रात करीब 9 बजे उसने घर से विजय को कृष्ण मंदिर के पास बुलवाया। यहां उससे पैसे मांगे। इसी बात पर दोनों में विवाद हो गया। गुस्साए राधेश्याम ने केरोसिन से भरी केन विजय पर उड़ेल दी। इसके बाद माचिस की तीली जलाकर आग लगा दी। वह गालियां देते हुए भाग गया।

READ:  दिग्विजय नें खोदी कमलनाथ सरकार की कब्र?

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

%d bloggers like this: