Home » HOME » आज नहीं 8 दिसंबर को भारत बंद, किसान यूनियन की देशव्यापी हड़ताल को Tribal Army का समर्थन

आज नहीं 8 दिसंबर को भारत बंद, किसान यूनियन की देशव्यापी हड़ताल को Tribal Army का समर्थन

Sharing is Important

5 दिसंबर यानी आज भारत बंद नहीं होगा। इसकी जानकारी ट्राइबल आर्मी(Tribal Army) के संस्थापक हंसराज मीणा ने ट्वीट कर दी। ट्राइबल आर्मी(Tribal Army) एक आदिवासी संगठन है, जिसने 5 दिसंबर के भारत बंद का आव्हान किया था। भारत बंद के आव्हान को ट्राइबल आर्मी ने वापस लेकर किसानों की 8 दिसंबर को होने वाली देशव्यापी हड़ताल का समर्थन किया है। देश के मुख्य किसान यूनियनों ने कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ 8 दिसंबर यानी मंगलवार को देशव्यापी हड़ताल की घोषणा की है।

‘आठ दिसंबर को भारत बंद’

आपको बता दें कि 5 दिसंबर को होने वाला भारत बंद ट्विटर पर #5दिसंबर_भारत_बंद और #कल_किसानों_का_भारतबंद_रहेगा टॉप ट्रेंड में था। बाद में हंसराज मीणा द्वारा दी गयी सूचना के बाद ट्विटर पर ट्रेंड बदल कर #कल_भारत_बंद_नहीं_होगा हो गया था।

किसान नेता राकेश टिकैत ने कल ऐलान किया कि कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ आठ दिसंबर को भारत बंद रहेगा। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि कल सरकार से किसानों की मांग को लेकर बातचीत होगी। कृषि कानून के ख़िलाफ़ किसानों का आंदोलन आज भी जारी है। कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर समेत तीन केंद्रीय मंत्रियों के साथ आंदोलनकारी किसानों की कल हुई बैठक बेनतीजा रही। किसान नेता नए कृषि कानूनों को रद्द करने की अपनी मांग पर अड़े हैं। अब किसान और सरकार के बीच 5 दिसंबर यानी आज फिर पांचवें दौर की बातचीत होगी।

READ:  Diwali Wishes in Hindi, 10 Best Diwali greetings and status

Bharat Bandh: किसानों के समर्थन में ट्राइबल आर्मी का आव्हान, कल रहेगा भारत बंद

सरकार द्वारा पास किये गए तीन कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ देशभर में किसान और आम आदमी आक्रोश में है। पंजाब के किसानों ने लगभग 2 महीने पंजाब में प्रदर्शन करने के बाद 26 नवंबर को दिल्ली का रूख किया था। तभी से सरकार ने हर वह कोशिश की जिससे किसानों को दिल्ली आने से रोका जा सके। किसानों पर इतनी सर्दी में पानी की बौछार की गयी साथ ही आंसू गैस छोड़कर उन्हें लौटने के लिए कहा गया। लेकिन किसान अपनी मांगो अड़े रहे और सिंघु और टिकरी बॉर्डर, जो दिल्ली को हरियाणा से जोड़ते हैं, वहां प्रदर्शन शुरु किया। अभी दिल्ली के तीन बॉर्डर ब्लॉक हैं, जिनमें सिंघु, टिकरी और यूपी का ग़ाज़ीपुर बॉर्डर हैं।

READ:  Agricultural laws withdrawal Key points; Sacrifice paid off says opposition 

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।